Free Video Downloader

पाकिस्तान: कराची में अज्ञात बंदूकधारियों ने एक चीनी नागरिक को उतारा मौत के घाट, 2 को किया घायल


हाइलाइट्स

गोलीबारी में एक चीनी नगरिक की मौत हो गई हैं. घटना में 2 अन्य घायल बताए जा रहे
दोनों घायल विदेशियों की हालत गंभीर है, क्योंकि उनके पेट में गोली लगी है
मुख्‍यमंत्री मुराद अली शाह ने घटना की विस्‍तृत जानकारी मांगी है

कराची: पाकिस्तान (pakistan) के सबसे बड़े कराची शहर (Karachi city) में बुधवार को अज्ञात बंदूकधारियों के द्वारा एक डेंटल (Dental) में चीनी नागरिकों (Chinise Citizens) पर हमला करने की खबर सामने आई हैं. बताया जा रहा है कि गोलीबारी में एक चीनी नगरिक की मौत (Death) हो गई हैं. घटना में 2 अन्य घायल बताए जा रहे हैं. जिसमें से एक महिला और एक पुरुष हैं. घटना की सूचना पाकर मौके पर पुलिस (Police) पहुंची. पुलिस ने मृतक चीनी के शव को कब्जे में ले लिया और घायलों को पास के अस्पताल में भर्ती कराया. बाद में, पुलिस ने पीड़ितों की पहचान 25 वर्षीय रोनिल्ड रायमंड चॉ, 72 वर्षीय मार्गेड और 74 वर्षीय रिचर्ड के रूप में की.

आपको बता दे यह हमला पहली बार नहीं हुआ हैं. पाकिस्तान में चीनी नागरिकों को कई बार निशाना बनाया जा चुका हैं. इससे पहले भी बहुत सी ऐसी घटनाएं घटी हैं. जिसमें चीनी नागरिकों पर हमला हुआ हैं. डॉन न्यूज रिपोर्ट के अनुसार, SSP असद रजा ने बताया कि हमलावर करांची के सदर बाजार इलाके में स्थित क्लीनिक में मरीज होने का नाटक करते हुए घुसे. तभी अज्ञात हमलावरों ने उनपर अंधाधुंध फायरिंग कर दी.

अब इमरान खान का ऑडियो हुआ लीक, PM रहते कांस्पीरेसी थ्योरी की कर रहे हैं बात

वहीं अस्पताल के डॉक्टर ने कहा कि दोनों घायल विदेशियों की हालत गंभीर है, क्योंकि उनके पेट में गोली लगी है. पाकिस्तान में चीनी नागरिकों पर इस तरह दिन दहाड़े गोलियों से हमला की घटना के बाद वहां हड़कंप मच गया. इसी बीच सिंध प्रांत के मुख्‍यमंत्री मुराद अली शाह ने घटना की विस्‍तृत जानकारी मांगी है. उन्‍होंने कराची के एडीशनल आईजीपी को तलब किया और उनसे इसका ब्‍यौरा मांगा है. साथ ही मुख्‍यमंत्री ने इसके साजिशकर्ताओं को तुरंत गिरफ्तार करने के आदेश दिए हैं. उन्‍होंने कहा है कि इस तरह की घटनाओं को कभी भी स्‍वीकार नहीं किया जाएगा.

अप्रैल में, कराची विश्वविद्यालय में अलगाववादी बलूच लिबरेशन आर्मी द्वारा किए गए एक आत्मघाती विस्फोट में तीन चीनी मारे गए थे, जो बलूचिस्तान में चीन के निवेश का विरोध करता है, चीन और पाकिस्तान पर संसाधन-संपन्न क्षेत्र के शोषण का आरोप लगाता है. कुछ अन्य हमलों को पाकिस्तान में कट्टरपंथी इस्लामी आतंकवादी संगठनों के लिए भी जिम्मेदार ठहराया गया था.

Tags: China, Pakistan



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

twenty seven  ⁄  twenty seven  =