Free Video Downloader

आर्थिक मंदी की राह पर चीन: अलीबाबा ने 10 हजार लोगों को नौकरी से निकाला


हाइलाइट्स

अलीबाबा (Alibaba) ने अपने 10 हजार कर्मचारियों की छंटनी कर दी है.
चीनी दिग्गज कंपनी ने Cost-Cutting के नाम पर बड़े स्तर पर कर्मचारियों को निकाला है.
कंपनी ने अपने ओवरऑल कर्मचारियों की संख्या को 2,45,700 तक सीमित कर लिया है.

नई दिल्ली. कुछ दिन पहले खबर आई थी कि चीन में हेनान प्रांत में पुलिस और लोगों के बीच झड़पें हुईं, क्योंकि बैंकों में जमा लोगों की पूंजी निकालने पर रोक लगा दी गई थी. यहां तक कि चीन की सड़कों पर पुलिस और बख्तरबंद टैंक तक उतर आए थे. अब एक नई खबर आई है, जिससे और स्पष्ट हो जाता है कि चीन और चीनी कंपनियों के आर्थिक स्थिति बिगड़ती जा रही है.

चीन की जानी-मानी कंपनी अलीबाबा (Alibaba) ने अपने 10 हजार कर्मचारियों की छंटनी कर दी है. बिजनेस स्टैंडर्ड की एक रिपोर्ट में बताया गया है कि इस चीनी दिग्गज कंपनी ने लागतों में कमी (Cost-Cutting) के नाम पर बड़े स्तर पर कर्मचारियों को निकाला है. रिपोर्ट में कहा गया है कि सेल्स में कमी और देश (चीन) में आर्थिक सुस्ती की वजह से यह कदम उठाया गया है.

ये भी पढ़ें – मैदा, सूजी और होलमील आटा निर्यात के नियम हुए सख्‍त, घरेलू बाजार में घटेंगे दाम!

सीमित की कर्मचारियों की संख्या
इस रिपोर्ट में साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट के हवाले से बताया गया है कि जून तिमाही में 9,241 लोगों की हॉन्ग्जाओ (Hangzhou) स्थिति अलीबाबा से छुट्टी हो चुकी है. कंपनी ने अपने ओवरऑल कर्मचारियों की संख्या को 2,45,700 तक सीमित कर लिया है.

रिपोर्ट में कहा गया है कि छंटनी के बाद अलीबाबा ने जून तिमाही में शुद्ध आय में 50 प्रतिशत की गिरावट के साथ 22.74 बिलियन युआन की गिरावट दर्ज की, जो कि 2021 में इसी समय के दौरान 45.14 बिलियन युआन से कम थी. कम पे-रोल (Pay-Roll) अलीबाबा के खर्चों और संचालन में कटौती के नए प्रयासों को दर्शाता है. दुनिया के सबसे बड़े ई-कॉमर्स बाजार, चीन इन दिनों निरंतर नियामक दबाव, सुस्त खपत और धीमी अर्थव्यवस्था का सामना कर रहा है.

फ्रेशर्स की भर्ती करेंगे: चेयरमैन
अलीबाबा के चेयरमैन और CEO डेनियल ज़ांग योंग ने कहा है कि कंपनी इस साल 6 हजार से अधिक यूनिवर्सिटी ग्रेजुएट्स की भर्ती करेगी. पिछले महीने एक रिपोर्ट काफी चर्चा में रही थी कि अलीबाबा के फाउंडर और अरबपति जैक मा (Jack Ma) एंट ग्रुप (Ant Group) का नियंत्रण अपने हाथों से छोड़ने वाले हैं. कहा गया था कि जैक मा पर सरकारी रेगुलटरी का काफी दबाव है.

Tags: Business news, Business news in hindi, China, China news, Recession



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.

  ⁄  3  =  one