Free Video Downloader

म्यांमार में सैन्य सरकार की इतनी तारीफ क्यों कर रहा चीन? क्या है इरादा?


नाएप्यीडॉ. म्यांमार में 2021 से सैन्य तख्तापलट के बाद चीजें तेजी से बदल रही हैं. इस बीच चीन ने न केवल म्यांमार के सैन्य सरकार के संकटमोचन के रूप में काम किया, बल्कि हथियार और गोला-बारूद देकर सहायता भी की है. चीन ने खुद कहा है कि म्यांमार की सेना तातमाडॉ के साथ उसके संबंध ऐतिहासिक हैं. चीन ने ये भी कहा है कि वह आगे भी म्यांमार की मदद करेगा. ऐसे में बड़ा सवाल ये है कि चीन आखिर म्यांमार की इतनी तारीफ क्यों कर रहा है? इसके पीछे ड्रैगन का क्या इरादा है.

4 अप्रैल को जारी एक बयान में चीन ने यह भी पुष्टि की है कि उसने हमेशा अपनी कूटनीति में म्यांमार को एक महत्वपूर्ण स्थान पर रखा है. उसने यह भी कहा कि दोनों देशों के साझा भविष्य के साथ चीन-म्यांमार के लोगों के बीच संबंधों को मजबूत बनाने के लिए आपसी सहयोग को गहरा करना चाहता है.

म्यांमार में सैन्य तख्ता पलट के बाद 7 लाख लोग विस्थापित, 40 हजार लोगों ने छोड़ा देश: संयुक्त राष्ट्र

विदेश मंत्री वांग यी ने म्यांमार के अपने समकक्ष वुन्ना मौंग ल्विन को बताया कि चीन ने म्यांमार को हमेशा अपने पड़ोसी कूटनीति में एक महत्वपूर्ण स्थान पर रखा है. उन्होंने यह भी कहा कि चीन की इच्छा आपसी व्यापार और सहयोग गहरा करने की है. चीन के इस समर्थन के बाद आशंका जताई जा रही है कि म्यांमार की सेना अपने विरोधियों के खिलाफ बल प्रयोग को और ज्यादा बढ़ा सकती है.

इतना ही नहीं, चीन की शह पर जुंटा सरकार लोकतंत्र समर्थक नेताओं की हत्या भी करवा सकती है. ऐसे में म्यांमार में सेना और लोकतंत्र समर्थकों के बीच जारी गतिरोध फिलहाल थमता नजर नहीं आ रहा है.

म्यांमार की नेता आंग सान सू ची को 5 साल की सजा, भ्रष्टाचार केस ठहराया गया दोषी

चीन के म्यांमार प्रेम की असली वजह यह है
म्यांमार की सेना के प्रति चीन के इस प्यार की एक बड़ी वजह बेल्ट एंड रोड इनिशिएटिव भी है. म्यांमार की नागरिक सरकार ने इस समझौते में देश को शामिल जरूर कर लिया था, लेकिन वह कई प्रोजक्ट्स को मंजूरी देने में आनाकानी कर रही थी. चीन का प्लान युन्नान प्रांत से म्यांमार के हिंद महासागर तट तक एक ट्रांसपोर्ट और कम्यूनिकेशन कॉरिडोर बनाने का है.

यह प्रोजक्ट चीन म्यांमार आर्थिक गलियारे (सीएमईसी) का हिस्सा है. इस प्रोजक्ट से चीन के आर्थिक और रणनीतिक हित सीधे तौर पर जुड़े हुए हैं. यही कारण है कि अपने प्रोजक्ट को पूरा करवाने के लिए चीन म्यांमार की सैन्य सरकार का समर्थन करने के लिए किसी भी हद तक जाने को तैयार है.

Tags: China, Military operation, Myanmar military coup



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.

  ⁄  3  =  three