Free Video Downloader

VIDEO: याद है कि नहीं, आज ही के दिन फुटबॉल के मैदान पर ‘गॉड’ ने खुद किया था गोल


नई दिल्ली. अर्जेंटीना फुटबॉल टीम के लिए आज का दिन बेहद खास है. 36 साल पहले यानी 22 जून 1986 को डिएगो माराडोना (Diego Maradona) की कप्तानी में अर्जेंटीना की टीम ने फीफा विश्व कप (FIFA World Cup) के क्वार्टर फाइनल में इंग्लैंड को 2-1 से पराजित कर सेमीफाइनल में प्रवेश किया था. अर्जेंटीना की ओर से दोनों गोल माराडोना ने किया था. माराडोना के दोनों गोल काफी चर्चा में रहे. खासकर पहला गोल विवादित रहा.

मैक्सिको में आयोजित इस प्रतष्ठित टूर्नामेंट में इस मैच में माराडोना हेडर से गोल करना चाहते थे, लेकिन गेंद कथित तौर पर उनके हाथ से टकराकर गोल पोस्ट में चली गई थी. मैच रेफरी इसे देखने में विफल रहे थे. उन्होंने हालांकि इस मैच में अपनी ख्याति के अनुरूप इंग्लैंड की लगभग पूरी टीम को अपनी शानदार ड्रिबलिंग से छकाते हुए गोलकर टीम को यादगार जीत दिलाई थी. माराडोना ने इसे भगवान की मर्जी बताते हुए इसे ‘हैंड ऑफ गॉड’ (Hand Of God) करार दिया था, जो आज भी इसी नाम से फेमस है.

यह भी पढ़ें:Asian Track Cycling Championship: रोनाल्डो ने अपना ही राष्ट्रीय रिकॉर्ड तोड़ा, सेमीफाइनल में पहुंचे

Kuortane Games: नीरज चोपड़ा ने सीजन का पहला गोल्ड मेडल जीता, ओलंपिक चैंपियन को पछाड़ा

दूसरे गोल को ‘गोल ऑफ द सेंचुरी’ नाम दिया गया
डिएगो माराडोना ने दूसरा गोल चार मिनट बाद ही दाग दिया. इसे ‘गोल ऑफ द सेंचुरी’ के नाम से जाना गया. माराडोना का यह गोल और भी खास इसलिए हो जाता है क्योंकि तब उन्होंने इंग्लैंड के गोलकीपर सहित 5 खिलाड़ियों को छकाते हुए गेंद को गोल पोस्ट में पहुंचाया था. इस टूर्नामेंट में माराडोना ने कुल पांच गोल किए थे.

अर्जेंटीना ने दूसरी बार जीता विश्व खिताब
अर्जेंटीना ने दूसरी बार विश्व चैंपियन बनने का गौरव हासिल किया. उसने फाइनल में वेस्ट जर्मनी को 3-2 से हराकर दूसरी बार विश्व चैंपियन बनने का गौरव हासिल किया था. तब मैक्सिको ने दूसरी बार फीफा वर्ल्ड कप की मेजबानी की थी. इससे पहले अर्जेंटीना ने 1978 में अपनी मेजबानी में विश्व खिताब अपने नाम किया था.

Tags: Diego Maradona, Fifa world cup, Football, Football news, On This Day





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

25  ⁄    =  five