रोनाल्डो ने रचा इतिहास, एशियन चैंपियनशिप में सिल्वर जीतने वाले पहले भारतीय साइक्लिस्ट


नई दिल्ली. स्टार साइक्लिस्ट रोनाल्डो सिंह ने बुधवार को एशियन ट्रैक चैंपियनशिप के अंतिम दिन सीनियर वर्ग की स्प्रिंट स्पर्धा में दूसरे स्थान पर रहते हुए इतिहास रच दिया. वह महाद्वीपीय टूर्नामेंट में रजत पदक जीतने वाले पहले भारतीय साइक्लिस्ट बन गए. रोनाल्डो की उपलब्धि महाद्वीपीय चैम्पियनशिप में किसी भारतीय साइक्लिस्ट का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है. बुधवार को उन्होंने जापान के अनुभवी राइडर केंटो यामासाकी को कड़ी चुनौती दी लेकिन दूसरा स्थान ही हासिल कर सके.

यामासाकी ने लगातार रेस में रोनाल्डो को पछाड़ कर पोडियम में शीर्ष स्थान पर रहते हुए स्वर्ण पदक अपने नाम किया. कजाकिस्तान के आंद्रे चुगे ने स्पर्धा का ब्रॉन्ज मेडल हासिल किया. भारतीय साइक्लिंग महासंघ के चेयरमैन ओंकार सिंह ने कहा, ‘यह (रोनाल्डो का रजत) एशियन चैंपियनशिप में किसी भारतीय का पहला रजत पदक था. किसी भारतीय ने हमारे इतिहस में स्वर्ण पदक नहीं जीता है. इसलिए उनका रजत पदक जीतना किसी भारतीय का महाद्वीपीय चैंपियनशिप में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है.’

इसे भी देखें, रोनाल्डो ने एशियन चैंपियनशिप में अपना ही राष्ट्रीय रिकॉर्ड तोड़ा

रोनाल्डो सिंह एशियन साइक्लिंग परिसंघ के महासचिव भी हैं. रोनाल्डो का यह चैंपियनशिप में तीसरा पदक था. उन्होंने इससे पहले 1 किमी टाइम ट्रायल और टीम स्प्रिंट स्पर्धा में कांस्य पदक जीते थे. सुबह रोनाल्डो ने सेमीफाइनल में कजाकिस्तान के आंद्रे चुगे को पछाड़ा था. यह भारतीय पहली रेस में हार गया था लेकिन वापसी करते हुए अगली दो रेस जीतकर फाइनल में प्रवेश किया.

रोनाल्डो ने जीत के बाद कहा, ‘मेरे दिमाग में स्वर्ण पदक था, लेकिन फिर भी मैं खुश हूं क्योंकि यह मेरा पहला रजत पदक है. यह मेरे करियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है. प्रत्येक टूर्नामेंट में मेरी तकनीक में सुधार हुआ है, यह सबसे अहम है.’

इसे भी देखें, तेजी से बढ़ रही भारत की खेल इंडस्‍ट्री, 2027 तक अब से 5 गुना हो जाएगा कारोबार, IPL का बड़ा रोल

मंगलवार को विश्व जूनियर चैंपियन और एशियाई रिकॉर्डधारी रोनाल्डो ने 200 मीटर फ्लाइंग टाइम ट्रायल में राष्ट्रीय रिकॉर्ड बनाया था और पुरुष एलीट स्प्रिंट रेस स्पर्धा के सेमीफाइनल में जगह बनाई थी. घरेलू टीम ने अंतिम दिन 1 सिल्वर और 2 ब्रॉन्ज जीते. भारतीय जूनियर साइक्लिस्ट बिरजीत युमनाम ने 15 किमी प्वाइंट रेस में 23 अंक से कांस्य पदक जीता. कोरिया के सुंगयिओन ली ने 24 अंक से रजत और उज्बेकिस्तान के फारूख बोबोशेरोव ने स्वर्ण पदक हासिल किया.

छायानिका गोगोई दिन में हैरान करने वाली साइक्लिस्ट रहीं. इस 19 वर्षीय साइक्लिस्ट ने 10 किमी महिला स्क्रैच रेस फाइनल में कजाकिस्तान की पदक की दावेदार रिनाटा सुल्तानोवा को पछाड़कर कांस्य पदक से भारत का खाता खोला. योयूरी किम ने स्वर्ण और जापान की किये फुरूयामा ने रजत पदक प्राप्त किया.

इंदिरा गांधी इंडोर स्टेडियम के वेलोड्रोम में एशियाई जूनियर और पैरा चैम्पियनशिप भी इसके साथ ही आयोजित की गयी थी. अंतिम दिन 10 फाइनल में कुछ साइकिल भी टकरा गईं. जापान 18 स्वर्ण, सात रजत और दो कांस्य से संयुक्त पदक तालिका में शीर्ष पर रहा. वर्ल्ड क्लास फील्ड में भारतीय साइक्लिंग टीम 23 पदक (2 स्वर्ण, 6 रजत और 15 कांस्य) से पांचवें स्थान पर रही. कोरिया 12 स्वर्ण, 14 रजत और 3 कांस्य पदक जीतकर दूसरे स्थान पर रहा जबकि कजाकिस्तान ने 4 स्वर्ण, 4 रजत और 3 कांस्य से तीसरा स्थान हासिल किया.

Tags: Cycle, Sports news



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.

forty two  ⁄  six  =