अमेरिका से तनातनी के बीच चीन ने की लैंड बेस्ड एंटी मिसाइल इंटरसेप्शन की टेस्टिंग


बीजिंग. चीन ने अमेरिका (America) से बढ़ते तनाव के बीच रविवार की रात को लैंड बेस्ड मिसाइल इंटरसेप्शन (Land Based Missile Interception) का सफल परीक्षण किया. चीन के रक्षा मंत्री ने इस मिसाइल की विशेषता बताते हुए कहा कि ये मिसाइल हवा में अंतरमहाद्वीपीय मिसाल को मार गिराने में सक्षम है. साथ ही उन्होंने कहा कि चीन द्वारा नई मिसाइल का परीक्षण केवल रक्षात्मक उद्देश्य के लिए किया गया है. इसका निर्माण किसी विशेष देश को निशाना बनाने कि लिए नहीं किया गया है.

चीन राष्ट्रपति शी जिनपिंग (Xi Jingping) की महत्वकांशी आधुनिकीकरण योजना के तहत, अंतरिक्ष में उपग्रहों को नष्ट करने वाली मिसाइलों से लेकर उन्नत परमाणु-टिप वाली बैलिस्टिक मिसाइलों तक सभी प्रकार की मिसाइलों के परीक्षणों में तेजी ला रहा है. बता दें कि बीजिंग इससे पहले भी फरवरी 2021 और 2018 में भी मिसाइल इंटरसेप्टर परीक्षण कर चुका है. चीनी सरकारी मीडिया के अनुसार, चीन ने सबसे पहले 2010 में एंटी- मिसाइल परीक्षण किया था.

अमेरिका से तनातनी के बीच मिसाइल परीक्षण
चीनी रक्षा मंत्रालय द्वारा जारी एक संक्षिप्त बयान में बताया कि रविवार देर रात को “ग्राउंड-बेस्ड मिडकोर्स एंटी-मिसाइल इंटरसेप्ट टेक्नोलॉजी” टेस्ट किया गया था. आपको बता दें कि चीन और रूस, दक्षिण कोरिया में अमेरिका की टर्मिनल हाई एल्टीट्यूड एरिया डिफेंस मिलासल रोधी प्रणाली (THAAD) की तैनाती का बार-बार विरोध करता रहा है.
चीनी रक्षा मंत्रालय ने अपने बयानों में चीन की मिसाइल कार्यक्रमों के बार में भी कुछ जानकारी साझा की है. जिसमें बताया गया है कि, 2016 में स्थानीय टेलीविजन में तस्वीरें आने के बाद से ही चीन मिसाइल रोधी प्रणाली परीक्षणों के साथ आगे बढ़ रहा है. रक्षा मंत्रालय ने कहा कि राष्ट्रीय रक्षा और सुरक्षा के लिए इस प्रकार की तकनीक का होना अति आवश्यक है. (एजेंसी इनपुट)

ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी | आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी |

FIRST PUBLISHED : June 20, 2022, 13:45 IST



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.

48  ⁄    =  twenty four