Free Video Downloader

महिला साइक्लिस्ट ने कोच पर लगाया था ‘गलत व्यवहार’ का आरोप, SAI ने पूरी टीम ही वापस बुलाई


नई दिल्ली. स्लोवेनिया में एशियन चैंपियनशिप की तैयारी कर रही भारतीय साइक्लिंग टीम को स्पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया (SAI) ने वापस बुलाने का फैसला लिया है. यह फैसला एक महिला साइक्लिस्ट के स्प्रिंट टीम के चीफ कोच आरके शर्मा पर लगाए गए ‘अनुचित व्यवहार’ के आरोप के बाद लिया गया है. साई ने सभी खिलाड़ियों के पासपोर्ट भी मांगे हैं. साइक्लिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया के सेकेट्री जनरल मनिंदर पाल सिंह ने न्यूज एजेंसी एएनआई को यह जानकारी दी.

बता दें कि स्लोवेनिया में भारतीय साइक्लिंग टीम के साथ ट्रेनिंग कर रही एक महिला साइक्लिस्ट ने साई को ई-मेल भेजकर कोच द्वारा अनुचित व्यवहार की शिकायत की थी. अब साई ने पूरी टीम को कैंप खत्म होने से पहले ही स्लोवेनिया से वापस बुला लिया है.

साई ने आरोप लगाने वाली महिला साइक्लिस्ट को पहले ही वापस बुला लिया है और मामले की जांच के लिये जांच समिति गठित कर दी है. भारतीय टीम में पांच पुरुष और एक महिला साइक्लिस्ट शामिल हैं और पूर्व कार्यक्रम के अनुसार उन्हें 14 जून को स्लोवेनिया से वापस लौटना था. एशियन चैंपियनशिप 18 से 22 जून के बीच दिल्ली में होनी है.

साई ने भारतीय टीम को वापस बुलाने का फैसला लिया
भारतीय साइकिल महासंघ (सीएफआई) के अध्यक्ष ओंकार सिंह ने पीटीआई को बताया, “साई ने वर्तमान दौरे को बीच में ही समाप्त करने का फैसला किया है. साई के अधिकारी ने आज सुबह सीएफआई को बताया कि कोच आरके शर्मा सहित पूरे दल को स्लोवेनिया से तुरंत वापस बुलाया जाएगा. यह भी पता चला है कि साइ ने कोच शर्मा को जल्द से जल्द वापस लौटने के लिए अलग से संदेश भी भेजा था.”

कोच आर के शर्मा साल 2014 से टीम से जुड़े हुए हैं. एयरफोर्स में एचआर मैनेजर रह चुके शर्मा इंडिया की जूनियर और सीनियर साइक्लिंग प्रोग्राम्स का पिछले 8 सालों से हिस्सा रहे हैं.

साई ने जांच के लिए कमेटी गठित की
इससे पहले, स्पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने अपने बयान में कहा था, “एथलीट की शिकायत के बाद उसकी सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए हम उसे भारत वापस ले आए हैं और मामले की जांच के लिए एक कमेटी भी गठित की है. आरोप गंभीर हैं और इस मामले की जांच प्राथमिकता के साथ की जा रही है.”

(भाषा इनपुट के साथ)

Tags: Sports news



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

  ⁄  four  =  one