IND v SA सीरीज से तय होगी T20 वर्ल्ड कप की टीम! कौन होगा बैकअप ओपनर और मिडिल ऑर्डर में किसका कटेगा टिकट?


नई दिल्ली. आईपीएल के खत्म होने के बाद अब टीम इंडिया की नजर इस साल अक्टूबर-नवंबर में ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी20 विश्व कप पर है. दक्षिण अफ्रीका (IND v SA T20 Series)  के खिलाफ 5 टी20 की सीरीज के साथ इसकी तैयारी शुरू हो जाएगी. इस सीरीज के लिए रोहित शर्मा, विराट कोहली और जसप्रीत बुमराह जैसे सीनियर खिलाड़ियों को आराम दिया गया है. भारतीय टीम के सामने कई ऐसे सवाल खड़े हैं, जिसका जवाब दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सीरीज में ढूंढने की कोशिश की जाएगी. ताकि टी20 विश्व कप की टीम अभी से तैयार की जा सके.

टीम इंडिया जब 9 जून से दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सीरीज खेलने उतरेगी, तो टीम मैनेजमेंट की नजर इस बात पर भी होगी कि मिडिल ऑर्डर में कौन सा बल्लेबाज फिट होगा और टी20 विश्व कप का टिकट कटाएगा? मोटे तौर पर देखें, तो मिडिल ऑर्डर में एक जगह खाली है. लेकिन, दावेदार कई हैं. सबसे पहले श्रेयस अय्यर हैं, जिन्होंने आईपीएल 2022 से पहले श्रीलंका के खिलाफ टी20 सीरीज में 28 गेंद में नाबाद 57, 44 गेंद में नाबाद 74 और 45 गेंद में नाबाद 73 रन की पारी खेली थी. अय्यर ने यह सभी पारियां नंबर-3 पर खेलीं थीं.

खुद अय्यर को भी लगता है कि उनके लिए तीन नंबर बैटिंग के लिए सबसे सही स्थान है. लेकिन, पूरी संभावना है कि विराट कोहली अपनी मौजूदा फॉर्म के बावजूद टी20 विश्व कप में इसी नंबर पर बल्लेबाजी करेंगे. अय्यर ने अतीत में चार नंबर पर भी अच्छी बल्लेबाजी की है, इसलिए ऐसा नहीं है कि वह निचले क्रम में बल्लेबाजी नहीं कर सकते हैं. बस, एक बात है कि वो क्रीज पर जमने के लिए वक्त लेते हैं और उन्हें इसमें सुधार करना होगा.

मिडिल ऑर्डर में किसका कटेगा टिकट?
मिडिल ऑर्डर में अगले विकल्प दीपक हुडा हो सकते हैं. दीपक ने आईपीएल 2022 में 136 के स्ट्राइक रेट से 451 रन बनाए थे. इससे भी महत्वपूर्ण बात यह है कि उन्होंने 3 से लेकर नंबर 6 तक हर जगह समान सहजता से बल्लेबाजी की. एक और चीज जो उनके पक्ष में जाती है वह यह है कि जरूरत पड़ने पर वह गेंदबाजी भी कर लेते हैं. इसके बाद सूर्यकुमार यादव हैं, जो वर्तमान में बांह की चोट के कारण टीम से बाहर हैं, लेकिन वो 360 डिग्री बल्लेबाज हैं, जो पहली गेंद से ही बड़े शॉट्स खेल सकते हैं. राहुल त्रिपाठी और संजू सैमसन भी टीम इंडिया के दरवाजे पर दस्तक दे रहे हैं. ऐसे में दक्षिण अफ्रीका सीरीज में अय्यर और हुडा के पास टीम में अपनी जगह पक्की करने का सुनहरा मौका है.

कौन होगा चहल का जोड़ीदार?
आईपीएल 2022 में 27 विकेट के साथ युजवेंद्र चहल ने भारत के नंबर-1 टी20 गेंदबाज के रूप में अपना रुतबा कायम रखा है. लेकिन, दूसरे स्पिनर की तलाश अब तक पूरी नहीं हुई है. साल भर पहले, तक रवींद्र जडेजा इस रोल में फिट बैठ जाते. लेकिन आईपीएल में कमजोर प्रदर्शन और फिर चोट ने बाकी गेंदबाजों के लिए दरवाजे खोल दिए हैं. अक्षर पटेल के रूप में टीम इंडिया के पास जडेजा का विकल्प है. अक्षर हर मैच में 4 ओवर गेंदबाजी कर सकते हैं. वहीं, निचले क्रम में तेजी से रन भी बना सकते हैं. साथ ही वो अच्छे फील्डर भी हैं. लेकिन, जडेजा की तरह ही अक्षर भी टी20 क्रिकेट में विकेट लेने वाले गेंदबाज नहीं है और न ही उनकी गेंद चहल जितनी घूमती हैं.

कुलदीप का दावा भी मजबूत
अगर किसी टीम में बाएं हाथ के बल्लेबाज ज्यादा होंगे तो फिर अक्षर टीम की कमजोर कड़ी साबित हो सकते हैं. ऐसी सूरत में कुलदीप यादव नजर आते हैं. वो विकेट लेने वाले रिस्ट स्पिनर हैं और अपने एक्शन में बदलाव के बाद कुलदीप पहले से अधिक खतरनाक हो गए हैं. वो बाएं हाथ के बल्लेबाज से गेंद को दूर भी ले जाते हैं. रवि बिश्नोई भी एक दावेदार हो सकते हैं. वो हैं तो चहल जैसे लेग स्पिनर ही. लेकिन, वो तेज रफ्तार से गुगली और लेग ब्रेक फेंकते हैं. उन्होंने इसी साल फरवरी में वेस्टइंडीज के खिलाफ सीरीज में अपनी छाप छोड़ी थी

क्या बैकअप ओपनर की तलाश पूरी होगी?
रोहित शर्मा और केएल राहुल के बैकअप ओपनर की तलाश अब भी जारी है. पिछले साल टी20 विश्व कप में सेलेक्टर ने यह कहते हुए ईशान किशन को इस रोल के लिए चुना था कि वो मिडिल ऑर्डर में भी बल्लेबाजी कर सकते हैं. हालांकि, उनका मौजूदा फॉर्म तो परेशानी बढ़ाने वाला है. उन्होंने आईपीएल 2022 में मुंबई इंडियंस के लिए जरूर 418 रन बनाए. लेकिन, उनका स्ट्राइक रेट 120 का रहा और अगर कार्तिक विश्व कप टीम में जगह बनाते हैं, तो भारत को तीसरे विकेटकीपर की जरूरत नहीं होगी, क्योंकि केएल राहुल भी टी20 में यह भूमिका निभा सकते हैं.

सलामी बल्लेबाज के रूप में किशन को ऋतुराज गायकवाड़ से कड़ी प्रतिस्पर्धा का सामना करना पड़ रहा है. जहां किशन को एक आक्रामक बल्लेबाज के रूप में देखा जाता है. वहीं, गायकवाड़ की गिनती ऐसे बल्लेबाज के रूप में होती है, जो पारी को संभाल सकता है. गायकवाड़ का आईपीएल अच्छा नहीं रहा, लेकिन उन्होंने कुछ अच्छी पारियां खेलीं. दक्षिण अफ्रीका सीरीज में दोनों बल्लेबाजों के पास अपनी काबिलियत साबित करने का एक और मौका होगा.

World Cup History: क्रिकेट वर्ल्ड कप के 50 साल भी नहीं हुए पूरे, अब होने लगे 3 तरह के बड़े इवेंट

तेज गेंदबाजों में से कौन रेस जीतेगा?
जसप्रीत बुमराह दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सीरीज में नहीं खेल रहे हैं. ऐसे में बाकी गेंदबाजों के लिए खुद को साबित करने का मौका होगा. भुवनेश्वर कुमार जब लय में होते हैं तो दुनिया के सबसे बेहतर तेज गेंदबाजों में शुमार होते हैं. उनके लिए आईपीएल का 15वां सीजन ठीक-ठाक रहा. लेकिन, सीनियर गेंदबाज होने के नाते टीम इंडिया उनसे चाहेगी कि वो निरंतर बेहतर प्रदर्शन करें.

IND vs SA: टीम इंडिया ने शुरू की प्रैक्टिस, कोच राहुल द्रविड़ खिलाड़ियों को टिप्स देते दिखे, VIDEO

मोहम्मद शमी और दीपक चाहर की गैरहाजिरी में वो नई गेंद संभाल सकते हैं. यह भी नहीं भूलना चाहिए कि वो डेथ ओवर में भी अच्छी गेंदबाजी करते हैं. अगर नए तेज गेंदबाजों की बात करें तो उमरान मलिक और अर्शदीप सिंह ने आईपीएल 2022 में अपनी गेंदबाजी से सबको प्रभावित किया. उमरान ने अपनी रफ्तार से बड़े-बड़े बल्लेबाजों के छक्के छुड़ा दिए. उन्होंने 14 मैच में कुल 22 विकेट लिए. दूसरी तरफ, अर्शदीप ने डेथ ओवर में बल्लेबाजों को खामोश रखा. उन्होंने 14 मैच में 10 विकेट ही लिए. लेकिन डेथ ओवर में उनकी 7.58 की इकोनॉमी रेट बुमराह के 7.38 (न्यूनतम 10 ओवर) के बाद दूसरे स्थान पर थी. अब दोनों के पास आईपीएल की सफलता को इंटरनेशनल स्तर पर दोहराने का मौका है.

Tags: Arshdeep Singh, Deepak Hooda, India vs South Africa, Ishan kishan, Ruturaj gaikwad, Shreyas iyer, T20 World Cup 2022, Umran Malik



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.

twenty four  ⁄  six  =