Free Video Downloader

एशियन कप क्वालिफायर्स : सुनील छेत्री की कप्तानी में कंबोडिया पर बड़ी जीत दर्ज करने उतरेगा भारत


कोलकाता. भारतीय टीम 5वीं बार एएफसी (एशियाई फुटबॉल परिसंघ) एशियाई कप फाइनल्स में जगह बनाने की कवायद में बुधवार को कम रैंकिंग वाले कंबोडिया के खिलाफ बड़ी जीत दर्ज करने उतरेगी. करिश्माई स्ट्राइकर सुनील छेत्री की कप्तानी में भारत अपने अभियान की शानदार शुरुआत करने की कोशिश करेगा. छेत्री इस मैच में अपना 80वां गोल करने की कोशिश करेंगे. क्रिस्टियानो रोनाल्डो (188 मैचों में 117 गोल) और लियोनल मेसी (162 मैचों में 86 गोल) दनादन गोल दागे जा रहे हैं. इन दोनों से किसी की तुलना नहीं की जा सकती है लेकिन छेत्री के पास इस टूर्नामेंट में मेसी से आगे निकलने का मौका होगा.

भारतीय टीम विश्व रैंकिंग में अभी 106वें स्थान पर है जबकि कंबोडिया उससे 65 स्थान नीचे 171वें स्थान पर है. ग्रुप डी में इन दो टीम के अलावा अफगानिस्तान (150) और हांगकांग (147) शामिल हैं. ऐसे में सुनील छेत्री के पास गोल करने के मौके होंगे. छेत्री अपने करियर के अवसान पर हैं और एशियाई कप के लिए क्वालिफाई करना इस 37 वर्षीय कप्तान के लिए विशेष होगा. चीन के हटने के कारण अगला एशियाई कप 2023 के आखिर या 2024 में होगा और ऐसे में छेत्री इसे अपने शानदार करियर का ‘अंतिम किला’ मान सकते हैं.

इसे भी देखें, सुनील छेत्री ने कहा- अपने अंतिम मुकाबले खेल रहा हूं, फीफा ने बैन लगाया तो…

छेत्री ने अपने 126वें मैच से पहले इरादे स्पष्ट करते हुए कहा, ‘मैं क्वालिफाई करना चाहता हूं. अगर मैं वहां नहीं रहूंगा, तो मेरा देश होगा. या तो मैं बीयर पीते हुए उदांता को दौड़ लगाते हुए देखूंगा या आप बीयर पी रहे होंगे और मैं वहां दौड़ूंगा.’ इस महाद्वीपीय प्रतियोगिता के क्वालिफाइंग मैचों से पहले भारत का प्रदर्शन अनुकूल नहीं रहा. उसने इससे पहले जो 3 अंतरराष्ट्रीय मैत्री मैच खेले, उन सभी में उसे हार का सामना करना पड़ा. अफगानिस्तान ग्रुप डी के पहले मैच में शाम साढ़े 4 बजे से हांगकांग से भिड़ेगा, जिसके बाद रात 8.30 बजे से भारत और कंबोडिया का मैच खेला जाएगा.

यही नहीं इस बीच उसे इंडियन सुपर लीग की टीम एटीके मोहन बागान से 1-2 से हार मिली जबकि उसने आई लीग ऑल स्टार्स टीम को 2-1 से हराया लेकिन संतोष ट्रॉफी के उप विजेता बंगाल ने उसे 1-1 से ड्रा पर रोका.

भारतीय टीम ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपना आखिरी मैच 7 महीने से भी अधिक समय पहले जीता था जब उसने 16 अक्टूबर 2021 को सैफ चैंपियनशिप के फाइनल में नेपाल को 3-0 से हराया था. हाल के परिणाम इगोर स्टिमक की कोचिंग वाली टीम के लिए बेहद निराशाजनक रहे. छेत्री ने अपने साथियों को आगाह कर दिया है कि अगर वे कंबोडिया के खिलाफ अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाते हैं तो आधी जंग यहीं पर हार जाएंगे.

छेत्री ने कहा, ‘हम पहला मैच उनसे खेल रहे हैं. अगर हम कंबोडिया के खिलाफ अच्छा प्रदर्शन नहीं करते हैं, तो इसका मतलब आप अपनी आधी लड़ाई हार गए हैं. अभी तक, हम केवल कंबोडिया के बारे में सोच रहे हैं, जितना संभव हो उतने वीडियो देख रहे हैं. एक बार जब हम यह मैच खेल लेंगे तो फिर अफगानिस्तान के बारे में सोचेंगे. निसंदेह, अफगानिस्तान भी मजबूत है.’

कोच स्टिमक के लिए हाल के दिनों में सबसे बड़ा झटका रहीम अली की चोट रही है, जिन्होंने छेत्री के साथ मिलकर अग्रिम पंक्ति को हमलावर बनाना शुरू कर दिया था. जैसे ही उन्होंने जेजे लालपेखुला के स्थान को भरना शुरू किया उन्हें मांसपेशियों में खिंचाव के कारण बाहर होना पड़ा. एएफसी कप में हैट्रिक जमाने वाले एटीके मोहन बागान के फॉरवर्ड लिस्टन कोलासो, मनवीर सिंह और उदांता सिंह कुछ विकल्प दे सकते हैं लेकिन अली के गेंद पर नियंत्रण और सटीक पासिंग का मुकाबला करना मुश्किल है. देखना दिलचस्प होगा कि छेत्री इससे कैसे निपटते हैं क्योंकि वे पांचवें एशियाई कप के लिए क्वालिफाई करना चाहते हैं.

Tags: AFC Asia Cup Qualifiers, Football, Indian football, Sports news, Sunil chhetri



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

  ⁄  five  =  one