Free Video Downloader

Ranji Trophy Quarter Finals: 6 जून से रणजी ट्रॉफी के क्वार्टर फाइनल, जानिए- किस टीम की किससे भिड़ंत


नई दिल्ली. रणजी ट्रॉफी के क्वार्टर फाइनल मुकाबले आज 6 जून यानी सोमवार से शुरू हो रहे हैं. इसमें 8 टीमें सेमीफाइनल में पहुंचने की उम्मीदों के साथ उतरेंगी. बंगाल और झारखंड के बीच मुकाबले पर भी सभी की नजरें रहेंगी. राज्य के क्रिकेट बोर्ड से मनमुटाव के कारण ऋद्धिमान साहा ने बंगाल टीम का साथ छोड़ दिया है. ऐसे में अपने सबसे अनुभवी विकेटकीपर साहा के बिना अभिमन्यु ईश्वरन की कप्तानी  वाली बंगाल टीम अपने तेज गेंदबाजों के दम पर रणजी ट्रॉफी क्वार्टर फाइनल मैच में झारखंड के खिलाफ जीत के दावेदार के तौर पर उतरेगी.

मुकेश कुमार (15 विकेट), ईशान पोरेल (14 विकेट) और आकाश दीप (10 विकेट) की तिकड़ी इस शीर्ष घरेलू टूर्नामेंट में देश में सबसे बेहतरीन तेज आक्रमण में से एक रही है. इन तीनों ने मौजूदा सीजन में बंगाल के गेंदबाजों द्वारा लिए गए 58 में से 39 विकेट चटकाए हैं. स्पिन गेंदबाजी के हरफनमौला शाहबाज अहमद (8) विकेट के साथ ये तीनों एक बार फिर झारखंड के खिलाफ अपने प्रदर्शन को दोहराना चाहेंगे.

कुमार देवव्रत, कुमार कुशाग्र और विराट सिंह जैसे झारखंड के बल्लेबाजों को प्री-क्वार्टर फाइनल में नागालैंड के खिलाफ बनाए गए 900 रनों से आगे के बारे में सोचना होगा. भारतीय टीम से चयन के लिए अनुपलब्ध होने के बाद 37 साल के ऋद्धिमान साहा ने निजी कारणों से लीग चरण के मैचों को नहीं खेलने का फैसला किया था. टीम को हालांकि उनके विकल्प के तौर पर मिले 19 साल के अभिषेक पोरेल ने शानदार प्रदर्शन किया.

बंगाल का हिस्सा नहीं होंगे साहा
आईपीएल में गुजरात टाइटंस के लिए शानदार प्रदर्शन करने वाले ऋद्धिमान साहा ने राज्य निकाय के पदाधिकारी देवव्रत दास से कथित तौर पर उनका अपमान करने के लिए सार्वजनिक माफी की मांग की. उन्होंने इसके बाद टीम का प्रतिनिधित्व नहीं करने का फैसला किया. बंगाल के कोच सौराशीष लाहिड़ी ने कहा कि टीम में दो स्थानों को लेकर चर्चा चल रही है. तीसरे क्रम पर बल्लेबाजी के लिए बाएं हाथ के बल्लेबाज अभिषेक रमण और सुदीप चटर्जी के बीच मुकाबला होगा. उन्होंने कहा, ‘यह मुश्किल फैसला होगा क्योंकि दोनों बेहतरीन खिलाड़ी है.’

बंगाल की बल्लेबाजी चिंता का विषय
बंगाल के लिए चिंता का सबब उनकी बल्लेबाजी है. लीग चरण के तीन मैचों की छह पारियों में सिर्फ ईश्वरन ही एक शतक लगा सके. कोई भी बल्लेबाज 250 रन से अधिक का आंकड़ा नहीं छू पाया. लीग चरणों में सबसे अधिक रन बनाने वाले अनुभवी अनुष्टुप मजूमदार (242 रन) अपने करियर के आखिरी चरण में है. बंगाल के सामने बाएं हाथ के 2 गेंदबाज शाहबाज नदीम और अनुकूल रॉय के अलावा राहुल शुक्ला और तेज गेंदबाजों की जोड़ी से निपटना होगा.

यह भी पढ़ें

VIDEO : इस भारतीय बल्लेबाज ने एक ओवर में जड़े 6 छ्क्के, 436 के स्ट्राइक रेट से खेली तूफानी पारी

IND vs SA: रवि शास्त्री ने कहा- धोनी की जगह यह खिलाड़ी बन सकता है फिनिशर, टी20 वर्ल्ड कप के लिए अहम

कर्नाटक की यूपी से टक्कर, पंजाब का एमपी से सामना
एक अन्य मैच में कर्नाटक के सामने उत्तर प्रदेश की मजबूत चुनौती होगी. देवदत्त पडिक्कल, करुण नायर, मनीष पांडे और हाल तक भारत के सलामी बल्लेबाज की भूमिका निभाने वाले मयंक अग्रवाल के सामने आईपीएल में शानदार प्रदर्शन करने वाले मोहसिन खान और यश दयाल की चुनौती होगी. रोनित मोरे की अगुआई वाली कर्नाटक की गेंदबाजी थोड़ी कमजोर लग रही है और यह देखना दिलचस्प होगा कि रिंकू सिंह, अक्षदीप नाथ और प्रियम गर्ग की बल्लेबाजों की तिकड़ी का क्या रूख होता है. अन्य क्वार्टर फाइनल में पंजाब और मध्यप्रदेश आमने-सामने होंगे. पंजाब ने अपने पिछले 5 में से 3 मुकाबले जीते हैं और 1 हारा है जबकि एमपी टीम ने 2 जीते और 3 ड्रॉ रहे.

मुंबई के सामने उत्तराखंड की चुनौती
वहीं, मुंबई टीम के सामने उत्तराखंड की चुनौती होगी जो मुकाबला अलुर में खेला जाएगा. मुंबई टीम में कप्तान पृथ्वी शॉ और सरफराज खान पर बल्लेबाजी का दारोमदार रहेगा. तो शशांक अतरडे और ऑलराउंडर शम्स मुल्तानी गेंदबाजी में कमाल दिखाना चाहेंगे. उत्तराखंड की कमान जय बिष्ट संभाल रहे हैं. टीम में सौरभ रावत और मयंक मिश्रा पर भी जिम्मेदारी रहेगी.

Tags: Bengal, Cricket news, Mumbai, Punjab, Ranji Trophy, Wriddhiman saha



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

thirty six  ⁄  four  =