Free Video Downloader

बंदर की तरह उछलें, जिस्म पर आलू दिखें’…,शोएब अख्तर ने बताया- क्यों बल्लेबाजों को मारते थे बाउंसर


नई दिल्ली. क्रिकेट इतिहास में ऐसे कई तेज गेंदबाज हुए हैं, जिन्होंने अपनी रफ्तार का कहर बरपाया है. लेकिन, जब भी सबसे तेज गेंदबाज की बात होगी, तो शोएब अख्तर का नाम लिस्ट में सबसे ऊपर आएगा. पाकिस्तान क्रिकेट टीम की पहचान ही तेज गेंदबाजों से रही है और अख्तर उनमें से एक रहे. रावलपिंडी एक्सप्रेस के नाम से मशहूर यह गेंदबाज जब भी मैदान पर उतरता था तो बल्लेबाजों के होश उड़ा देता था. शोएब के साथ खेले कई पूर्व दिग्गज बल्लेबाज उन्हें अपने दौर का सबसे खतरनाक गेंदबाज मानते हैं.

शोएब अख्तर के पास एक गेंदबाज के तौर पर अच्छी वैरिएशन थी. वो यॉर्कर और रिवर्स स्विंग फेंकने में माहिर थे. लेकिन, उन्हें बल्लेबाजों को बाउंसर फेंकने में सबसे ज्यादा मजा आता था. इसकी वजह सिर्फ यही है कि इस गेंद पर बल्लेबाजों को उछलते देख उन्हें सुकून मिलता था. अख्तर ने हाल ही में स्पोर्ट्सकीड़ा से बातचीत में इसका खुलासा किया.

बल्लेबाज बंदर की तरह उछलें, इसलिए बाउंसर फेंकता था: शोएब
अख्तर ने कहा, “मैं बाउंसर इसलिए फेंकता था, क्योंकि मुझे बल्लेबाजों को बंदर की तरह उछलते देखने में बहुत सुकून मिलता था. मैं झूठ नहीं बोलूंगा. मैं बल्लेबाजों को सिर पर गेंद मारना चाहता था, क्योंकि मेरे पास रफ्तार थी. यह तेज गेंदबाज होने का लाभ है, यह बस होना था.”

ब्रैंडन मैकुलम के कोच बनने से बदलेगी इंग्लिश टीम की तकदीर? जानिए क्यों खास है यह दिग्गज

राजस्थान के युवा बल्लेबाज पर भड़के पूर्व दिग्गज खिलाड़ी, बोले- मौके मिलने के बाद भी कोई सुधार नहीं

‘बल्लेबाज मेरा नाम याद रखें, बस यही इच्छा थी’
पाकिस्तान के इस पूर्व तेज गेंदबाज ने आगे कहा,”वह हमेशा बल्लेबाजों के शरीर पर प्रहार करना चाहते थे, ताकि जब भी वे आईने में देखें, तो उन्हें मेरी याद आए. उन्होंने कहा, “लंबे रन-अप के कारण जोश पूरे उफान पर रहता था. लंबे बाल और दिल की धड़कन 185+ रहती थी तो आप निश्चित तौर पर फुल लेंथ बॉल तो नहीं ही डालेंगे. दिमाग में सिर्फ यही रखता था कि बल्लेबाज के जिस्म में आलू दिखें (शरीर पर सूजन दिखाई देनी चाहिए). बल्लेबाज जब भी खुद को आईने में देखे तो उसे मेरा नाम याद आए. यही सच्चा प्यार है.”

अख्तर अपने इंटरनेशनल करियर में चोट से जूझते रहे. लेकिन, रफ्तार से उन्होंने कभी समझौता नहीं किया. अख्तर ने पाकिस्तान के लिए 163 वनडे में 247 विकेट लिए हैं. वहीं, 46 टेस्ट उनके नाम 178 विकेट हैं. उन्होंने 2011 का विश्व कप खेलने के बाद संन्यास ले लिया था.

Tags: Pakistan, Pakistan cricket team, Shoaib Akhtar



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

  ⁄  3  =  one