Free Video Downloader

कॉमनवेल्थ गेम्स के लिए टेबल टेनिस टीम की घोषणा, महिला टीम को SAI की मंजूरी की जरूरत


बेंगलुरु. भारतीय टेबल टेनिस टीम के चयनकर्ताओं ने मंगलवार को कॉमनवेल्थ गेम्स के लिए 4 सदस्यीय महिला टीम का चयन किया, जो भारतीय खेल प्राधिकरण (साई) से मंजूरी के अधीन है क्योंकि अर्चना कामत को मौजूदा मानदंडों को पूरा नहीं करने के बावजूद टीम में शामिल किया गया था. पुरुष टीम को लेकर हालांकि विवाद जैसी कोई स्थिति नहीं है. इसमें दिग्गज शरत कमल, जी साथियान और हरमीत देसाई मुख्य खिलाड़ी हैं जबकि मानुष शाह स्टैंडबाई होंगे.

महिलाओं में कामत, मनिका बत्रा (39वीं रैंकिंग) के बाद 66वीं रैंकिंग के साथ दूसरी सर्वोच्च रैंकिंग वाली भारतीय खिलाड़ी हैं, लेकिन वह मौजूदा चयन मानदंडों के अनुसार टॉप-4 में शामिल नहीं थी, जो घरेलू प्रदर्शन पर भी आधारित है. प्रशासकों की समिति (सीओए) ने ऐसी स्थिति से निपटने के लिए भविष्य में चयन दिशानिर्देशों में बदलाव करने की योजना बनाई है. राष्ट्रमंडल खेलों के लिए चुने गए खिलाड़ियों को प्रमुख यूरोपीय टीम के साथ साझेदारी में एक अनुकूलन शिविर में भाग लेने का मौका मिलेगा.

इसे भी देखें, चिराग शेट्टी बोले- कॉमनवेल्थ गेम्स पर ध्यान लगाने का समय, गोल्ड मेडल जीतना प्राथमिकता

चयनित खिलाड़ी मनिका, अर्चना, श्रीजा अकुला (रैंकिंग 69), रीथ ऋषि (100) के अलावा दीया चितले (129) को स्टैंडबाई के रूप में रखा गया है. इसमें अहिका मुखर्जी और सुतीर्था मुखर्जी जैसे अनुभवी खिलाड़ियों की अनदेखी की गई.

साई से सहमति का इंतजार करने पर सीओए के प्रतिनिधि और चयन समिति के अध्यक्ष एसडी मुद्गिल ने कहा, ‘मौजूदा चयन मानदंडों के तहत, सदस्यों में से एक (अर्चना) शीर्ष-4 से बाहर हैं. चयन समिति हालांकि आश्वस्त है कि मौजूदा दिशानिर्देश ‘त्रुटिपूर्ण’ हैं और 1 अक्टूबर से प्रभावी नए दिशानिर्देशों में जरूरी सुधार किए जाएंगे.’

Tags: Commonwealth Games, Indian table tennis player, Sports news, Table Tennis



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

  ⁄  five  =  two