Free Video Downloader

चीन का बाइडेन पर पलटवार- ताइवान का मुद्दा हमारा आंतरिक मामला, समझौते की गुंजाइश नहीं


नई दिल्ली:  ताइवान (Taiwan) पर अमेरिका (America) के बयान के बाद बीजिंग (Beijing) ने सोमवार को कहा कि वह ताइवान (China-Taiwan) पर अपने राष्ट्रीय हितों की रक्षा के लिए तैयार है. चीन की यह प्रतिक्रिया अमेरिका के उस बयान के बाद आई है जिसमें राष्ट्रपति जो बाइडेन (Joe Biden) ने कहा कि अगर चीन ताइवान पर हमला करता है तो उनका देश सैन्य हस्तक्षेप करेगा. अमेरिका का यह बयान ताइवान के समर्थन में दिया गया दो दशकों में सबसे जोरदार बयानों में से एक है.

बता दे कि चीन की कम्यूनिस्ट पार्टी ने कभी भी स्व-शासित ताइवान को नियंत्रित नहीं किया लेकिन चीन इस द्वीप को अपने क्षेत्र के हिस्से के रूप में देखता है और अगर भविष्य में उसे कोई खतरा नजर आता है तो वह इसे बचाने के लिए बल का भी प्रयोग करेगा जिसकी उसने कसम खाई है.

बाइडेन ने किया रक्षा का वाद
क्वाड सम्मेलन में हिस्सा लेने से पहले टोक्यों में मौजूद जो बाइडेन ने सोमवार को चेतावनी देते हुए कहा था कि अगर चीन द्वीप पर किसी तरह की कोई छेड़खानी करता है तो ताइवान को सैन्य कार्रवाई की मदद दी जाएगी और इतना ही नहीं बाइडेन ने ताइवान को बचाने का भी वादा किया.

चीन का पलटवार-हमारा आंतरिक मामाल है
बाइडेन के बयान के बाद बीजिंग से तीखी प्रतिक्रिया देखने को मिली. चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता वांग वेनबिन ने सोमवार को संवाददाताओं से कहा कि ताइवान चीन का एक अविभाज्य हिस्सा है. चीन ने कहा कि ताइवान का मुद्दा पूरी तरह से चीन का आंतरिक मामला है.

बीजिंग ने जोरदार पलटवार करते हुए कहा कि चीन की संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता के मूल हितों को छूने वाले मुद्दों पर चीन के पास किसी तरह के समझौते या रियायत के लिए कोई जगह नहीं है. वांग ने कहा कि चीन अपनी 1.4 अरब की आबादी के बल पर हमेशा अपने हितों की रक्षा करेगा.

Tags: China, China-Taiwan, Joe Biden, Xi jinping



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

thirty  ⁄    =  3