Free Video Downloader

भारत से थी खास यारी! चौके-छक्के उड़ाकर खेली रिकॉर्डतोड़ पारी, 13 साल तक सुनाई दी गूंज


नई दिल्ली. पाकिस्तान ने विश्व क्रिकेट को तेज रफ्तार और रिवर्स स्विंग कराने में महारत हासिल रखने वाले गेंदबाज दिए हैं. लेकिन, इसी पाकिस्तान में ऐसे बल्लेबाज भी हुए हैं, जिन्होंने बड़ी-बड़ी टीमों और गेंदबाजों की नींद हराम की थी. इसमें सईद अनवर का नाम सबसे ऊपर आता है. अनवर की भारत से खास यारी थी. मतलब, वो जब भी भारतीय क्रिकेट टीम के खिलाफ उतरते थे तो कोई न कोई रिकॉर्ड तोड़कर ही पवेलियन लौटते थे. अनवर ने आज ही के दिन यानी 21 मई, 1997 को भारत के खिलाफ चेन्नई के एम ए चिदंबरम स्टेडियम में 146 गेंद में 194 रन की तूफानी पारी खेली थी. वो महज 6 रन से दोहरे शतक से चूक गए थे. वर्ना सचिन तेंदुलकर से पहले वनडे में दोहरा शतक लगाने का रिकॉर्ड उनके नाम होता. अनवर की यह पारी तब वनडे में किसी बल्लेबाज का सबसे बड़ा स्कोर था.

अनवर का यह रिकॉर्ड 13 साल तक कायम रहा था. 2010 में सचिन तेंदुलकर ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ ग्वालियर में नाबाद 200 रन की पारी खेलकर अनवर के इस रिकॉर्ड को तोड़ा था. दिलचस्प बात यह है कि अनवर ने जिस मैच में भारत के खिलाफ 194 रन की रिकॉर्डतोड़ पारी खेली थी. उसमें भारतीय टीम के कप्तान सचिन तेंदुलकर ही थे. सचिन से पहले एक और बल्लेबाज अनवर का यह रिकॉर्ड तोड़ सकता था. लेकिन वो अनवर की बराबरी करके ही रह गया. वो बल्लेबाज थे जिम्बाब्वे के चार्ल्स कॉवेंट्री. कॉवेंट्री ने अगस्त 2009 में बांग्लादेश के खिलाफ नाबाद 194 रन बनाकर अनवर के रिकॉर्ड की बराबरी की की थी.

अनवर ने 194 रन की रिकॉर्डतोड़ पारी खेली थी
आपको बताते हैं कि 21 मई, 1997 को क्या हुआ था. दरअसल, इस दिन भारत-पाकिस्तान के बीच चेन्नई के चेपॉक स्टेडियम में 4 देशों के इंडिपेंडेंस कप का छठा मुकाबला खेला गया था. इस मैच में पाकिस्तान के कप्तान रमीज राजा ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया था. सईद अनवर ने शाहिद अफरीदी के साथ पारी की शुरुआत की. अफरीदी तो जल्दी आउट हो गए. लेकिन अनवर ने बल्ले से ऐसा कोहराम मचाया कि पाकिस्तान ने 50 ओवर में 327 रन ठोक डाले. अनवर ने वेंकटेश प्रसाद, अनिल कुंबले, अभय कुरुविला जैसे गेंदबाजों की जमकर धुनाई की. उन्होंने 146 गेंद में 22 चौके और 5 छक्कों की मदद से 194 रन बना डाले.

इस दौरान उन्होंने वेस्टइंडीज के पूर्व धाकड़ बल्लेबाज विवियन रिचर्ड्स का 189 रन का रिकॉर्ड तोड़ा था. वो तो सचिन ने उन्हें आउट कर दिया, वर्ना अनवर वनडे में दोहरा शतक लगाने वाले पहले बल्लेबाज होते.

भारत को 35 रन से पाकिस्तान ने हराया था
328 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए एक राहुल द्रविड़ के 107 और विनोद कांबली की 65 रन की पारी को देखकर ऐसा लगा कि भारत इस लक्ष्य को हासिल कर लेगा. लेकिन इन दोनों के आउट होते ही भारत के रिकॉर्ड लक्ष्य का पीछा कर जीत की उम्मीद धुंधली पड़ गई और आखिरकार सचिन तेंदुलकर की कप्तानी में भारत 35 रन से यह मुकाबला हार गया. बाद में भारत इस टूर्नामेंट से भी बाहर हो गया और श्रीलंका ने इंडिपेंडेंस कप का खिताब जीता.

BS Chandrashekhar B’Day: पोलियो वाले हाथ को बनाया हथियार, इंग्लैंड-ऑस्ट्रेलिया में भारत को दिलाई पहली टेस्ट जीत

अनवर ने भारत के खिलाफ 2 हजार से अधिक रन ठोके
अनवर का बल्ला भारत के खिलाफ काफी बोलता था. इसका सबूत है उनके वनडे करियर के आंकड़े. अनवर ने 247 वनडे में 8824 रन बनाए थे. इसमें से अकेले 2002 रन यानी एक चौथाई रन तो भारत के खिलाफ ही आए. वो भी 43 से अधिक के औसत से. अनवर ने 20 वनडे शतक में से 4 भारत के खिलाफ ही ठोके थे.

Tags: India Vs Pakistan, On This Day, Sachin tendulkar



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

  ⁄  four  =  one