ताइवान का साथ न दे सके अमेरिका और जापान, इसलिए चीन ने समंदर में की जंगी जहाज लियाओनिंग की तैनाती


नई दिल्‍ली. चीन (China) और ताइवान (Taiwan)  के बीच जारी तनातनी के बीच चीन का एक एयरक्राप्ट कैरियर लियाओनिंग फिलीपींस सी में बीते एक हफ्ते से अभ्यास में जुटा है. चीन के मुखपत्र ग्लोबल टाइम्स में छपे एक लेख के मुताबिक एयरक्राफ्ट कैरियर लियाओनिंग ताइवान की पूर्वी दिशा में अभ्यास में जुटा है और जापान (Japan) के रक्षा मंत्रालय के मुताबिक ये कैरियर लगातार ताइवान की ओर बढ़ रहा है. ग्लोबल टाइम्स के मुताबिक ताइवान से जंग होने की हालात में एयरक्राफ्ट कैरियर लियाओनिंग अमेरिका और जापान को ताइवान की मदद करने से रोकेगा.

चीन और ताइवान के बीच लगातार तनाव के हालात बने हुए हैं. बीते शुक्रवार को चीन की सेना के 18 लडाकू जहाज जिसमें H-6 बॉम्बर और J-16 फाइटर जेट शामिल थे,ताइवान के इलाके में घुसने की घटना सामने आई थी. यूक्रेन युद्ध शुरू होने के बाद से चीन और ताइवान में लगातार तनातनी जारी है. बीते दिनों ताइवान के विदेश मंत्री जोसेफ वू ने उम्मीद जताई थी कि चीन के ताइवान पर हमले करने की स्थिति में दुनिया यूक्रेन युद्ध के समान ही चीन पर प्रतिबंध लगाएगी. चीन के उप विदेश मंत्री ली येचंग ने ताइवान को चेतावनी देते हुए कहा था कि दोनो देशों का एक होना ही सभी रास्ता है और आजादी हासिल के लिए ताइवान के विदेशी प्रयासों से कुछ हासिल नहीं होगा.

ली ने अमेरिका को चेतावनी देते हुए कहा था कि बीते कुछ समय से अमेरिका चीन के खिलाफ गुटबाजी में जुटा है. ये नॉटो का पूर्व में विस्तार जैसा है. अगर अमेरिका की इस रणनीति पर रोक न लगाई गई तो इसके भयावह परिणाम हो सकते हैं. ताइवान को लेकर चीन के रुख को देखते हुए जापान भी नाप-तौल कर कदम रख रहा है. जापान के प्रधानमंत्री किशीदा ने गुरुवार को एक बड़ा बयान देते हुए कहा था कि यूक्रेन जैसी जंग पूर्वी एशिया में भी हो सकती है. ताइवान सरकार लगातार कहती रही है कि वो यूक्रेन युद्ध से सबक ले रही है और चीन के ताइवान पर हमला करने की हालात में यूक्रेन की तरह चीन को जवाब देगी.

ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी | आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी |

FIRST PUBLISHED : May 08, 2022, 21:10 IST



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.

fifty four  ⁄    =  27