IPL 2022: रवींद्र जडेजा को बीच सीजन में क्यों छोड़नी पड़ी कप्तानी? असल वजह सामने आई


नई दिल्ली. महेंद्र सिंह धोनी 37 दिन के भीतर चेन्नई सुपर किंग्स के दोबारा कप्तान बन गए. चेन्नई सुपर किंग्स ने एक प्रेस रिलीज जारी कर बताया कि रवींद्र जडेजा ने अपने खेल पर अधिक फोकस करने के लिए कप्तानी छोड़ने का फैसला किया और धोनी से चेन्नई टीम की कमान संभालने की गुजारिश की. धोनी ने टीम के हित में यह गुजारिश मान ली और खुद कप्तानी संभालने का फैसला किया. लेकिन इनसाइडस्पोर्ट को पता चला कि सीएसके के प्रमोटर और प्रबंधन जडेजा के अब तक के प्रदर्शन से नाखुश थे और इसी वजह से उन्हें कप्तानी गंवानी पड़ी.

इनसाइडस्पोर्ट को चेन्नई सुपर किंग्स के खेमे से जुड़े सूत्र ने बताया कि इस सीजन में रवींद्र जडेजा मैदान पर सुस्त, दब्बू नजर आ रहे थे. उनकी कप्तानी में धार नजर नहीं आ रही थी. टीम की कप्तानी संभालने के दौरान उनमें आत्मविश्वास की कमी दिख रही थी. यह उनके बॉडी लैंग्वेज से भी झलक रहा था.

जडेजा आईपीएल 2022 से 2 दिन पहले कप्तान बने
जडेजा की लीडरशिप कई दिग्गजों ने भी सवाल खड़े किए थे. आईपीएल शुरू होने से 2 दिन पहले ही धोनी ने चेन्नई सुपर किंग्स की कप्तानी छोड़ी थी और उनकी जगह जडेजा को टीम का नया कप्तान बनाया गया था. तब हर कोई इस फैसले से हैरान था. क्योंकि धोनी आईपीएल इतिहास के सबसे सफल कप्तानों में शुमार थे. उनकी अगुवाई में चेन्नई ने चार खिताब जीते थे और सीजन शुरू होने से 2 दिन पहले उन्होंने क्यों कप्तानी छोड़ी यह सवाल सबके जहन में था? क्योंकि अगर जडेजा को अगर कप्तान बनाना सीएसके की दूरगामी रणनीति का हिस्सा था, तो इसे पहले भी किया जा सकता था.

अचानक मिली कप्तानी के दबाव का असर जडेजा पर साफ दिखा और एक खिलाड़ी और कप्तान दोनों के रूप में उनका प्रदर्शन फीका ही रहा. इसी वजह से डिफेंडिंग चैम्पियन चेन्नई पॉइंट्स टेबल में 9वें स्थान पर है और उसके प्लेऑफ में पहुंचने की उम्मीदें भी बेहद कमजोर हैं.

जडेजा के प्रदर्शन से टीम मैनेजमेंट नाखुश थी
सूत्र ने इनसाइडस्पोर्ट को आगे बताया,”जडेजा से ऐसे प्रदर्शन की उम्मीद प्रमोटर और टीम मैनेजमेंट को नहीं थी. सीएसके के कैंप में सभी को लगा कि जडेजा ने कप्तानी का जरूरत से ज्यादा दबाव खुद पर ले लिया. इसी वजह से उनका निजी प्रदर्शन भी प्रभावित हुआ.”

क्यों धोनी की कप्तान के रूप में वापसी हुई?
जडेजा की कप्तानी में चेन्नई सुपर किंग्स का आईपीएल 2022 में प्रदर्शन निराशाजनक रहा. टीम ने अब तक खेले 8 में से सिर्फ 2 मैच ही जीते और पॉइंट्स टेबल में 10वें स्थान पर काबिज मुंबई इंडियंस से एक स्थान ऊपर है. हालांकि, टीम के पास अब भी प्लेऑफ में पहुंचने का मौका है. अगर टीम अपने बाकी बचे मुकाबले जीत लेती है तो. ऐसे में टीम मैनेजमेंट ने जडेजा के साथ और रिस्क लेना बेहतर नहीं समझा और धोनी को दोबारा टीम की कप्तानी सौंपने का फैसला लिया.

जडेजा ने 8 मैच में 5 विकेट लिए
जडेजा का खुद का फॉर्म भी इस सीजन में काफी खराब है. उन्होंने 22.40 की औसत से 112 रन ही बनाए हैं और पिछले सीजन की तरह इस बार टीम के लिए मैच फिनिशर के रोल में खरे नहीं उतरे. वहीं, 8 मैच में जडेजा ने महज 5 विकेट ही लिए.

जडेजा ने धोनी को उनके ही अंदाज में लौटाई कप्तानी, क्या सीएसके को संकट से उबार पाएंगे कैप्टन कूल?

रवींद्र जडेजा ने एमएस धोनी को वापस सौंपी CSK की कप्‍तानी

धोनी की हैदराबाद के खिलाफ परीक्षा
धोनी रविवार को सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ मुकाबले में चेन्नई सुपर किंग्स की कप्तानी करेंगे. धोनी की अगुवाई में चेन्नई ने 4 बार आईपीएल का खिताब जीता है. पिछली बार भी धोनी की लीडरशिप में ही टीम चैम्पियन बनी थी. इस सीजन के शुरू होने से दो दिन पहले ही धोनी ने जडेजा को कप्तानी सौंपी थी. लेकिन टीम के लिए सीजन की शुरुआत खराब रही और उसने लगातार 4 मैच गंवाए.

Tags: Chennai super kings, Csk, IPL 2022, Ms dhoni, Ravindra jadeja



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.

96  ⁄    =  forty eight