रवींद्र जडेजा ने धोनी को उनके ही अंदाज में लौटाई कप्तानी, क्या इससे बदलेगी सीएसके की किस्मत?


नई दिल्ली. चेन्नई सुपर किंग्स के नए-नवेले कप्तान रवींद्र जडेजा ने बीच राह में ही अपनी टीम की कप्तानी छोड़ दी है. इसके साथ ही मिडास टच वाले कैप्टन कूल एमएस धोनी की बतौर कप्तान री-एंट्री हो गई है. अब वक्त ही बताएगा कि यह फैसला सीएसके के लिए कितना फलदायी होगा. लेकिन यह तो साफ हो गया है कि धोनी का अचानक कप्तानी छोड़ने का दांव फेल हो गया है. धोनी ने आईपीएल 2022 शुरू होने से महज 2 दिन पहले कप्तानी छोड़कर सबको चौंका दिया था. सितारे को सलाम करने की परंपरा ने धोनी के इस फैसले की खूब तारीफ करवाई. लेकिन जहाज रवाना होने के बाद कप्तानी सौंपे जाने से रवींद्र जडेजा का खेल जरूर डिरेल हो गया और शायद इसी का खामियाजा है कि चेन्नई सुपर किंग्स आज पॉइंट टेबल में नीचे से दूसरे स्थान पर है.

चेन्नई सुपर किंग्स ने शनिवार को ट्वीट कर रवींद्र जडेजा के कप्तानी छोड़ने की आधिकारिक घोषणा की. सीएसके ने इस ट्वीट में कहा, ‘रवींद्र जडेजा सीएसके की कप्तानी एमएस धोनी को वापस सौंपेंगे. जडेजा ने अपने खेल पर ध्यान केंद्रित करने के लिए कप्तानी छोड़ने का फैसला किया है. उन्होंने एमएस धोनी से सीएसके का नेतृत्व करने का अनुरोध किया है. धोनी ने सीएसके के हित में टीम का नेतृत्व करना स्वीकार कर लिया है, ताकि जडेजा अपने खेल पर ध्यान केंद्रित कर सकें.’

क्रिकेटप्रेमी जानते हैं कि चेन्नई सुपर किंग्स आईपीएल 2022 में अब तक खेले गए 8 में से 6 मैच हार चुकी है. वह पॉइंट टेबल में 4 अंकों के साथ नौवें स्थान पर है. सीएसके को अब भी 6 मैच खेलने हैं. अगर वे इनमें से सारे मैच जीत ले तो प्लेऑफ में पहुंच सकती है. पांच जीत भी उम्मीदें जिंदा कर सकती हैं. लेकिन आईपीएल को जानने वाले यह भी जानते हैं कि यह काम आसान नहीं है. धोनी को कुछ चमत्कारिक करना होगा. कुछ वैसा ही, जैसा उन्होंने कुछ दिन पहले मुंबई इंडियंस के खिलाफ आखिरी ओवर में किया था.

कप्तानी करना किसी भी खिलाड़ी के लिए सम्मान की बात होती है. और अगर चेन्नई सुपर किंग्स जैसी दिग्गज टीम की कप्तानी करने का मौका मिले तो यह किसी सौभाग्य से कम नहीं कहा जा सकता. सवाल यह उठता है कि ऐसा होने पर भी रवींद्र जडेजा ने आखिर टूर्नामेंट के बीच में कप्तानी क्यों छोड़ दी? इसका जवाब सीएसके के मौजूदा प्रदर्शन में ढूंढ़ने की कोशिश नहीं करनी चाहिए. क्योंकि सीएसके ने जब जडेजा को कप्तानी सौंपी तो यह दीर्घकालिक योजना थी. उनके कप्तान बनने पर कोई शक नहीं था. आखिर फ्रेंचाइजी ने उन्हें सबसे अधिक कीमत देकर रीटेन किया था. हां, जडेजा को जिस तरीके से कप्तानी सौंपी गई, उससे जरूर उनकी कामयाबी को लेकर कुछ शंकाएं थीं.

Tags: Chennai super kings, Csk, IPL, IPL 2022, Ms dhoni, Ravindra jadeja



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.

  ⁄  eight  =  1