टी20 वर्ल्ड कप की रेस में पिछड़े भुवी-शार्दुल-आवेश, पूर्व कोच ने चुने ये 5 तेज गेंदबाज, VIDEO


नई दिल्ली. आईपीएल इस बार अलग ही रंग में है. इस बार मुंबई इंडियंस और चेन्नई सुपर किंग्स जैसी चैंपियन टीमें धराशायी हो रही हैं तो विराट कोहली और रोहित शर्मा जैसे दिग्गज क्रिकेटरों का रंग उड़ा हुआ है. तेज गेंदबाजी में भी जसप्रीत बुमराह, भुवनेश्वर कुमार औसत से ऊपर नहीं उठ पा रहे हैं तो उमरान मलिक का जोश बल्लेबाजों में खौफ भर रहा है. कुल मिलाकर आईपीएल 2022 भारतीय टीम की सूरत में बदलाव के संकेत दे रहा है. खासकर गेंदबाजी में हमें नए नाम देखने को मिल सकते हैं. पूर्व कोच लालचंद राजपूत से जब हमने मौजूदा प्रदर्शन के आधार पर देश के पांच सर्वश्रेष्ठ तेज गेंदबाज चुनने को कहा तो उन्होंने 4 में से उन 2 पेसर का नाम बाहर कर दिया, जिन्होंने छह महीने पहले भी टी20 वर्ल्ड कप में भारत की अगुवाई की थी.

पूर्व कोच लालचंद राजपूत ने न्यूज18 हिंदी से फेसबुक लाइव के दौरान भारतीय तेज गेंदबाजी पर विस्तार से चर्चा की. इस दौरान हमने पूछा कि अगर उन्हें अगले टी20 वर्ल्ड कप के लिए भारतीय टीम चुननी हो तो वे किन 5 तेज गेंदबाजों को शामिल करेंगे. भारत को 2007 में विश्व चैंपियन बना चुके राजपूत ने इसके जवाब में उम्मीद के अनुरूप पहला नाम जसप्रीत बुमराह का नाम लिया. उन्होंने कहा कि हालांकि, आईपीएल में बुमराह अपने पूरे रंग में नहीं हैं, लेकिन इसका बड़ा कारण उन पर दबाव का होना है. मुंबई इंडियंस के पेस अटैक में बुमराह के अलावा कोई और बड़ा या अनुभवी गेंदबाज नहीं है, जिसके कारण वे अतिरिक्त प्रयास कर रहे हैं, जिसका नतीजा सिर्फ दबाव बढ़ना है.

जिम्बाब्वे की टीम को कोचिंग दे रहे लालचंद राजपूत ने टी20 वर्ल्ड कप के लिए भारतीय पेस अटैक में दूसरा नाम मोहम्मद शमी का शामिल किया. राजपूत ने कहा कि शमी नई और पुरानी दोनों ही गेंद से गेंदबाजी करने में महारत रखते हैं. उनका सीम और स्विंग पर इतना बेहतरीन नियंत्रण है कि वे किसी भी पिच पर प्रभावशाली गेंदबाजी कर सकते हैं. शमी पिछले 8-10 साल से लगातार खुद को साबित कर रहे हैं. राजपूत ने चौथे गेंदबाज के तौर पर दीपक चाहर (फिट होने पर) का नाम लिया. उन्होंने कहा दीपक की स्विंग गेंदबाजी किसी भी टीम के लिए बेहतरीन तोहफा है. निचले क्रम पर उपयोगी बैटिंग बोनस की तरह है.

1980 के दशक में भारतीय टीम के लिए खेल चुके राजपूत ने कहा कि वे तीसरे गेंदबाज के तौर पर टीम में उमरान मलिक को शामिल करेंगे. राजपूत ने कहा कि उमरान ना सिर्फ तेज गेंदबाजी कर रहे हैं, बल्कि लगातार विकेट भी निकाल रहे हैं. विकेट लेने की यह खूबी ऑस्ट्रेलिया में उन्हें और खतरनाक बना देगी. भारतीय क्रिकेट बोर्ड को चाहिए कि उमरान को आईपीएल के बाद टीम इंडिया में शामिल कर उन्हें अंतरराष्ट्रीय अनुभव दिलाए, ताकि वर्ल्ड कप तक यह गेंदबाज और निखर जाए. बता दें कि अगला टी20 वर्ल्ड कप इसी साल ऑस्ट्रेलिया में होना है.

लालचंद राजपूत ने पांचवें गेंदबाज का नाम लेने से पहले कहा कि टीम इंडिया का सलेक्शन चयनकर्ताओं के लिए एक अच्छा सिरदर्द साबित होने वाला है. उन्होंने कहा कि पांचवें गेंदबाज के तौर पर टीम इंडिया के पास कई विकल्प हैं. एक ओर अर्शदीप सिंह, टी नटराजन, यश दयाल जैसे बाएं हाथ के गेंदबाज हैं, जो टीम में वेरायटी लाएंगे. दूसरी ओर हर्षल पटेल, आवेश खान जैसे कुछ गेंदबाज हैं, जो डेथ ओवर में कमाल का प्रदर्शन कर रहे हैं. लेकिन वे खुद पांचवें गेंदबाज के लिए प्रसिद्ध कृष्णा को चुनेंगे. यह गेंदबाज सीम को हिट कर अच्छी उछाल हासिल करता है. सटीक लाइन लेंथ से गेंदबाजी करना जानता है. पावर प्ले और डेथ ओवर के मुताबिक अपनी गेंदबाजी में बदलाव करना जानता है. ऑस्ट्रेलिया में उनकी मौजूदगी टीम इंडिया को और खतरनाक बना देगी.

क्रिकेटप्रेमी जानते हैं कि पिछला टी20 वर्ल्ड कप करीब छह महीने पहले यूएई में खेला गया था. इसके लिए भारतीय टीम में 4 तेज गेंदबाजों को शामिल किया गया था. इनमें जसप्रीत बुमराह के अलावा मोहम्मद शमी, भुवनेश्वर कुमार और शार्दुल ठाकुर शामिल थे. लालचंद राजपूत की मानें तो इस बार ऑस्ट्रेलिया में होने वाले वर्ल्ड कप में भुवनेश्वर और शार्दुल का खेलना मुश्किल हो सकता है.

Tags: Cricket world cup, IPL, IPL 2022, Lalchand Rajput, T20 World Cup, T20 World Cup 2022, Team india, Umran Malik



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.

93  ⁄  ninety three  =