अरुण लाल बने रहेंगे बंगाल रणजी टीम के कोच, सचिव स्नेहाशीष गांगुली ने की पुष्टि


कोलकाता. बंगाल क्रिकेट संघ के सचिव स्नेहाशीष गांगुली ने कहा है कि सीएसबी भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज अरुण लाल के नेतृत्व वाली टीम के कोचिंग स्टाफ को बदलने पर विचार नहीं कर रहा है. अरुण की देखरेख में बंगाल की टीम ने 13 साल के लंबे अंतराल के बाद 2020 में रणजी ट्रॉफी फाइनल में जगह बनाई थी. टीम ने मौजूदा सत्र में लगातार तीन जीत से 18 अंक के साथ अपने ग्रुप में शीर्ष पर रहते हुए क्वार्टर फाइनल में जगह पक्की की है.

स्नेहाशीष ने रविवार को कहा, ‘मैंने मीडिया के कुछ हिस्सों में देखा है कि सीएबी आगामी सत्र में नए कोचिंग सदस्यों की नियुक्ति की प्रक्रिया में है. मैं यहां स्पष्ट रूप से कहना चाहता हूं कि यह खबर निराधार है.’ उन्होंने कहा, ‘बंगाल की सीनियर टीम प्रतिस्पर्धी क्रिकेट में अच्छा खेल रही है और  ऐसी अफवाहें सत्र के बीच में अनावश्यक और नुकसानदेह हैं.’

यह भी पढ़ें:शिखर धवन CSK के खिलाफ 2 रन बनाते ही हासिल करेंगे बड़ी उपलब्धि, अभी तक सिर्फ विराट कोहली कर पाए हैं ऐसा

VIDEO: सचिन तेंदुलकर आखिर क्यों वीरेंद्र सहवाग को खिलाते थे केले? मास्टर ब्लास्टर के बर्थडे पर वीरू ने खोला राज

बकौल स्नेहाशीष, ‘टीम अच्छा खेल रही है. कोचिंग स्टाफ बहुत अच्छा काम कर रहा है. सीएबी टीम के मौजूदा ‘सपोर्ट सिस्टम’ से बहुत खुश है और इसके उलट कोई भी खबर झूठी और निराधार है.’

अरुण के साथ टीम के पूर्व ऑफ स्पिनर सौराशीष लाहिड़ी सहयोगी कोच के तौर पर जुड़े हैं. रणजी ट्रॉफी का नॉकआउट चरण  इंडियन प्रीमियर लीग ( आईपीएल) के बाद फिर से शुरू होगा.

30 मई से खेले जाएंगे नॉकआउट के मुकाबले 

लंबे समय बाद रणजी ट्रॉफी टूर्नामेंट की शुरुआत 10 फरवरी से हुई. आईपीएल से पहले ग्रुप स्टेज के मुकाबले खेले गए. नॉकआउट के मुकाबले 30 मई से खेला जाएगा. पहले इस टूर्नामेंट का आयोजन इस साल 13 जनवरी से होना था लेकिन कोरोना वायरस महामारी को देखते हुए इसे टालना पड़ा था. पिछले साल कोरोना की वजह से इस टूर्नामेंट का आयोजन नहीं हो सका था. 38 टीमों को आठ एलीट और एक प्लेट ग्रुप में बांटा गया है.

Tags: BCCI Cricket, Ranji Trophy



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.

forty five  ⁄    =  forty five