BWF World Championships Kidambi Srikanth creates history after becoming first Indian male shuttler to win silver medal


हुएलवा (स्पेन). स्टार शटलर किदांबी श्रीकांत (Kidambi Srikanth) का बीडब्ल्यूएफ विश्व बैडमिंटन चैंपियनशिप (BWF World Championship-2021) में शानदार सफर रविवार को सिल्वर मेडल के साथ खत्म हुआ. उन्हें मेंस सिंगल्स के फाइनल में सिंगापुर के लोह कीन यू ने सीधे गेम में शिकस्त दी. श्रीकांत ने हारकर भी इतिहास रच दिया क्योंकि वह विश्व बैडमिंटन चैंपियनशिप में रजत पदक जीतने वाले पहले भारतीय पुरुष शटलर बन गए. श्रीकांत 43 मिनट तक मुकाबले को 15-21, 20-22 से हार गए.

विश्व के पूर्व नंबर-1 खिलाड़ी किदांबी श्रीकांत पहले गेम में 9-3 से आगे थे, लेकिन सिंगापुर के उनके प्रतिद्वंद्वी ने अच्छी वापसी की. श्रीकांत ने पहला गेम सिर्फ 16 मिनट में गंवा दिया. श्रीकांत ने दूसरे गेम में बेहतर संघर्ष किया. लेकिन लोह कीन यू ने दमदार प्रदर्शन किया और विजेता बनकर उभरे. सिंगापुर के इस 24 साल के खिलाड़ी ने मेंस सिंगल्स में इससे पहले दुनिया के नंबर एक और मौजूदा ओलंपिक चैंपियन विक्टर एक्सेलसन को हराकर चौंका दिया था.

इसे भी देखें, लक्ष्य सेन ने वर्ल्ड बैडमिंटन चैंपियनशिप में जीता ब्रॉन्ज मेडल

श्रीकांत ने शनिवार को हमवतन लक्ष्य सेन पर जीत के बाद चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंचने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी बनकर इतिहास रचा था. 28 साल के श्रीकांत विश्व बैडमिंटन चैम्पियनशिप के फाइनल में पहुंचने वाले पहले भारतीय पुरुष शटलर थे. इससे पहले चैम्पियनशिप में भारत के तीन पुरुष खिलाड़ियों ने मेडल जीते हैं.

दिग्गज प्रकाश पादुकोण मे 1983 में और बी साई प्रणीत ने 2019 में मेंस सिंगल्स में ब्रॉन्ज मेडल जीता था. इसी साल लक्ष्य सेन ने कांस्य पदक जीता है. लक्ष्य को ही सेमीफाइनल में हराकर किदांबी फाइनल में पहुंचे थे. भारत के लिए पीवी सिंधु ने विश्व बैडमिंटन चैम्पियनशिप में सबसे अधिक 5 मेडल जीते हैं.

Tags: Badminton, Kidambi Srikanth, Pv sindhu, Sports news, World Badminton Championships





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.

9  ⁄  one  =