Huawei cfo meng wanzhou release after agreement with america


टोरंटो. कनाडा (Canada) के पीएम जस्टिन ट्रूडो (Justin Trudeau) ने ऐलान किया कि चीन (China) में जासूसी के आरोपों में हिरासत में लिए गए दो कनाडाई नागरिकों को जेल से रिहा कर दिया गया. उन्हें देश से बाहर भेज दिया गया.

कनाडाई नागरिकों को ऐसे समय रिहा किया गया है, जब कुछ घंटे पहले ही चीनी कम्युनिकेशन दिग्गज कंपनी हुवावे टेक्नोलॉजी (Huawei Technologies) की शीर्ष कार्यकारी अधिकारी का अमेरिकी न्याय विभाग के साथ एक समझौता हुआ. इसके तहत उनके खिलाफ लगे सभी आपराधिक आरोपों को समाधान कर लिया गया.

कनाडा के माइकल कोवरिग और माइकल स्पावर को दिसंबर 2018 में चीन में गिरफ्तार किया गया था. दरअसल, इससे पहले कनाडा ने अमेरिकी प्रत्यर्पण अनुरोध पर हुवावे के मुख्य वित्तीय अधिकारी और कंपनी के संस्थापक की बेटी मेंग वानझोउ (Meng Wanzhou) को गिरफ्तार किया था.

कई देशों ने चीन की कार्रवाई को ‘बंधक वाली राजनीति’ करार दिया. मेंग के साथ हुए समझौते के तहत न्याय विभाग ने उन पर लगे धोखाधड़ी के आरोपों को खारिज कर दिया है. इसके बदले में मेंग ने स्वीकार किया कि उनकी कंपनी ने ईरान में व्यापारिक सौदों को गलत तरीके से प्रस्तुत किया.

अमेरिका और चीन के बीच अब सुलझा विवाद
मेंग वानझोउ के विमान के कनाडा से चीन के लिए रवाना होने के करीब एक घंटे बाद ट्रूडो ने शुक्रवार रात प्रेस कॉन्फ्रेंस की. मेंग और अमेरिकी न्याय विभाग के साथ हुए समझौते को स्थगित अभियोजन समझौते के रूप में जाना जाता है. इस तरह अमेरिका और चीन के बीच एक साल से चल रहे कानूनी और भू-राजनीतिक संघर्ष का हल हुआ है. इस संघर्ष में अमेरिका और चीन के अलावा कनाडा भी शामिल हो गया था. दरअसल, मेंग वानझोउ को कनाडा के वैंकुवर एयरपोर्ट पर दिसंबर 2018 में गिरफ्तार किया गया था. इसके बाद से ही वह कनाडा में हिरासत में रह रही थीं.

चीन की प्रगति का प्रतीक है हुवावे
ये सौदा तब हुआ है, जब राष्ट्रपति जो बाइडेन और चीनी समकक्ष शी जिनपिंग ने सार्वजनिक तनाव के संकेतों को कम करने की मांग की है. यहां गौर करने वाली बात ये है कि दुनिया की दो प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं के बीच साइबर सुरक्षा, जलवायु परिवर्तन, मानवाधिकार और व्यापार एवं टैरिफ जैसे मुद्दों को लेकर अभी भी विवाद है. हुवावे फोन और इंटरनेट कंपनियों के लिए नेटवर्क गियर का सबसे बड़ा वैश्विक आपूर्तिकर्ता है. ये एक टेक्नोलॉजिकल वर्ल्ड पावर में चीन की प्रगति का प्रतीक है. हालांकि, अमेरिकी सुरक्षा और कानून प्रवर्तन एजेंसियों की हमेशा से हुआवेई पर नजर रही है.

Tags: चीन





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.

ninety one  ⁄  13  =