Sourav ganguly breaks silence on virat kohli press conference says bcci will deal with it appropriately – गांगुली ने विराट कोहली की प्रेस कॉन्फ्रेंस पर तोड़ी चुप्पी, कहा


नई दिल्ली. भारतीय क्रिकेट टीम की कप्तानी का विवाद विराट कोहली (Virat Kohli) बनाम सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) में शिफ्ट होता जा रहा है. विराट कोहली ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में वनडे कप्तान के रूप में बर्खास्त होने पर बात की और बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली की टिप्पणियों का खंडन किया था. कोहली को इस महीने की शुरुआत में वनडे कप्तान के रूप में बर्खास्त कर दिया गया था. इसके अगले दिन गांगुली ने दावा किया कि बीसीसीआई ने कोहली को सितंबर में टी20 इंटरनेशनल कप्तानी नहीं छोड़ने के लिए कहा था. इसी वजह से चयनकर्ताओं को उन्हें 50 ओवरों की कप्तानी से हटाना पड़ा, क्योंकि वे सफेद गेंद के प्रारूप के लिए एक कप्तान चाहते थे.

विराट कोहली की प्रेस कॉन्फ्रेंस ने बीसीसीआई को सवालों के घेरे में ला दिया है. विराट की बर्खास्तगी को खराब तरीके से संभालने के लिए भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड और अध्यक्ष को दोषी ठहराया जा रहा है. सौरव गांगुली ने इस पूरे मामले पर अभी कोई टिप्पणी करने से इनकार कर दिया है. उन्होंने न्यूज 18 से कहा, ”मुझे कोई टिप्पणी नहीं करनी है. बीसीसीआई इससे उचित तरीके से निपटेगा.”

Ashes: डेविड वॉर्नर शतक से चूके, लेकिन बना गए बच्चे का दिन स्पेशल- VIDEO

दक्षिण अफ्रीका दौरे के लिए रवाना होने से एक दिन पहले विराट कोहली ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा था, ”जो कुछ भी संवाद के बारे में कहा गया था, जो निर्णय के बारे में कहा गया, वह गलत था. टेस्ट सीरीज के लिए 8 दिसंबर को चयन बैठक से डेढ़ घंटे पहले मुझसे संपर्क किया गया था. इससे पहले मेरे साथ किसी का कोई संवाद नहीं था. मैंने जब अपनी टी20 कप्तानी छोड़ने का फैसला सुनाया था, उसके बाद कोई बात नहीं हुई थी.” उन्होंने आगे कहा, ”जब मैंने टी20 कप्तानी छोड़ी, तो मैंने सबसे पहले बीसीसीआई से संपर्क किया और उन्हें अपने फैसले से अवगत कराया. उनके सामने अपनी बात रखी. मैंने कारण बताया कि मैं टी20 कप्तानी क्यों छोड़ना चाहता था और मेरे इस फैसले को उन्होंने अच्छी तरह से लिया था. कोई झिझक नहीं थी और एक बार के लिए मुझसे नहीं कहा गया था कि ‘तुम्हें टी20 कप्तानी नहीं छोड़नी चाहिए.”

विराट कोहली-रोहित शर्मा के रिश्ते पर अजहर ने किया ट्वीट, गावस्कर बोले- कुछ है तो सबके सामने बताओ

वहीं, कुछ दिन पहले एक इंटरव्यू में गांगुली ने न्यूज 18 को बताया था, “मैंने व्यक्तिगत रूप से उनसे (कोहली) टी20 कप्तानी नहीं छोड़ने का अनुरोध किया था. जाहिर है, उन्हें काम का बोझ महसूस हुआ. जो ठीक है, वह एक महान क्रिकेटर हैं. उन्होंने लंबे समय तक कप्तानी की है और ये चीजें होती हैं, क्योंकि मैंने लंबे समय तक कप्तानी की है, इसलिए, मुझे पता है.” उन्होंने आगे कहा था कि चयनकर्ता केवल एक सफेद गेंद वाला कप्तान चाहते थे और इसलिए यह निर्णय हुआ है. मुझे नहीं पता कि भविष्य में क्या होने वाला है, लेकिन जैसा कि मैंने कहायह एक अच्छी टीम है और इसमें कुछ शानदार खिलाड़ी हैं और मुझे उम्मीद है कि वे इसे सही से लेंगे.”

Tags: BCCI, Cricket news, Sourav Ganguly, Virat Kohli





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.

  ⁄  six  =  one