China has built a 5000 room quarantine center in Guangzhou


बीजिंग. एक तरफ दुनियाभर में कोविड-19 नियमों को लेकर ढील दी जा रही है और कई देश अब विदेशियों के स्वागत में बॉर्डर खोल रहे हैं. इसके ठीक उलट, चीनी सरकर अपने देश में जीरो कोविड स्ट्रैटजी (zero-Covid strategy) को सख्ती लागू करने की तैयारी में है. ताजा मामला गुआंगझाउ सिटी (Guangzhou) का है, जहां चीन ने 260 मिलियन डॉलर की लागत से 5000 क्वारंटाइन कमरों का सेंटर (Quarantine Center) बनाया है. चीन (China) का अनुमान है आने वाले दिनों में बड़ी संख्या में विदेशी लोग उसके देश आ सकते हैं.

सीएनएन की रिपोर्ट के मुताबिक, पारंपरिक चीनी शैली में भूरे रंग की छतों वाली तीन मंजिला इमारतें बनाई गई हैं. इसका आकार 46 फुटबॉल मैदानों बराबर है. शहर के बाहरी इलाके में इस सेंटर को बनाने में महज तीन महीने से भी कम समय लगा है.

यह गुआंगझाउ सिटी में उन होटल्स की जगह लेगा, जहां पहले विदेशी और देश के दूसरे हिस्सों से आने वाली यात्री ठहरते थे. इस सेंटर का मुख्य उद्देश्य बढ़ते काेविड के मामलों को कम करना है.

रोबोट सर्व करेंगे खाना
यात्रियों को बसों के जरिए सीधे एयरपोर्ट से यहां लाया जाएगा और कम से कम यहां उन्हें दो हफ्तों के लिए आइसाेलेट किया जाएगा. सभी रूम में वीडियो चैट कैमरा और आर्टिफिशियल ताकत से लैस थर्मोमीटर मौजूद है. रोबोट की मदद से दिन में तीन बार खाना सर्च किया जाएगा. काउंसिल फॉरेन रिलेशन्स में ग्लोबल हेल्थ के सीनियर फेलो याजहोंग हुआंग ने बताया कि यह दुनिया का सबसे अत्याधुनिक क्वारंटाइन सेंटर होने जा रहा है.

Tags: China





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.

thirty  ⁄    =  five