People who jab china sinovac and sinopharm covid vaccine should also get third dose – चीन की वैक्सीन में नहीं है दम! WHO ने कहा


बीजिंग/वॉशिंगटन. विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) का कहना है कि 60 साल से अधिक उम्र के लोग जिन्हें चीनी वैक्सीन (Chiense Vaccine) की दोनों डोज लग चुकी हैं, उन्हें कोरोना वैक्सीन (Covid-19 Vaccine) की एक तीसरी खुराक भी दी जानी चाहिए. डब्ल्यूएचओ की वैक्सीन एडवाइजरी ने सोमवार को इम्यूनो कॉम्प्रोमाइज्ड यानी कमजोर इम्यून सिस्टम वाले लोगों को डब्ल्यूएचओ की ओर से अधिकृत सभी कोविड-19 टीकों की एक अतिरिक्त खुराक देने की सिफारिश की.

डब्ल्यूएचओ की रणनीतिक टीकाकरण पर विशेषज्ञों के सलाहकार समूह ने कहा कि मध्यम और गंभीर रूप से कमजोर इम्यून सिस्टम वाले लोगों को एक अतिरिक्त खुराक दी जानी चाहिए. इन व्यक्ति में टीके के पर्याप्त रूप से प्रतिक्रिया करने की संभावना कम और गंभीर कोविड-19 बीमारी का जोखिम बहुत ज्यादा होता है.

कोरोना की वजह से समाज और दिमाग में आ रहे कैसे बदलाव, कैम्ब्रिज की नई रिसर्च में चौंकाया

सिनोवैक और सिनोफार्म लगवाने वाले रहें तैयार
वैश्विक स्वास्थ्य एजेंसी (WHO) ने कहा कि 60 से अधिक लोग, जो चीन की सिनोवैक और सिनोफार्म (Sinovac and Sinopharm) वैक्सीन लगवा चुके हैं, उन्हें कोविड-19 टीके (Covid-19 Vaccine) की तीसरी खुराक दी जानी चाहिए. समूह ने कहा, ‘सिनोवैक और सिनोफार्म वैक्सीन के लिए होमोलॉगस वैक्सीन की एक अतिरिक्त (तीसरी) खुराक 60 साल से अधिक उम्र के लोगों को दी जानी चाहिए.’

एस्ट्राजेनेका का ब्लूप्रिंट चुराकर रूस ने बना ली स्पूतनिक-V वैक्सीन- रिपोर्ट

पहला लक्ष्य दो खुराकें देना
SAGE ने कहा कि इस सिफारिश को लागू करते समय देशों को शुरू में ज्यादा से ज्यादा लोगों को दो खुराक देने का लक्ष्य रखना चाहिए. इसके बाद तीसरे डोज की तैयारी शुरू करनी चाहिए. सबसे पहले बुजुर्गों की इसकी खुराक देनी चाहिए. विशेषज्ञों ने जोर देकर कहा कि वे बड़े पैमाने पर आबादी के लिए एक अतिरिक्त कथित बूस्टर खुराक की सिफारिश नहीं कर रहे हैं.

Tags: WHO, WHO Guideline





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.

ninety eight  ⁄    =  49