Covid origins china hubei caves and wildlife farms draw new scrutiny


बीजिंग. चीन (China) से पूरी दुनिया में कोराेना (Corona) फैल जाने की बात को भारत का यह पड़ाेसी देश हमेशा नकारता रहा है. एक अनुमान यह है कि चीन के चमगादड़ों से कोरोना संक्रमण इंसानों में फैला, लेकिन इसकी भी पुष्टि अभी तक नहीं हुई है. अब इस मामले में WHO की टीम चीन में चमगादड़ों की गुफाओं और पशुपालन के लिए बने फार्मों की जांच करना चाहती है. लेकिन चीन ने इससे इनकार कर दिया है. इसके बाद पूरे मामले को संदिग्ध तौर पर देखा जा रहा है.

‘वॉशिंगटन पोस्ट’ की नई रिपोर्ट दावा करती है कि महामारी की उत्पत्ति का पता लगाने के लिए WHO ने वुहान में एन्शी नाम की जगह का दौरा करने का प्रस्ताव दिया था. यह जगह वुहान से छह घंटे की दूरी पर है, जिसे कोरोना महामारी का एपिकसेंटर माना जाता है. लेकिन चीन ने इस प्रस्ताव को ठुकरा दिया है.

हालांकि, यह पहली बार नहीं है, जब चीन ने कोरोना उत्पत्ति के लिए प्रस्तावित अंतरराष्ट्रीय जांचों होने में रोक लगाई है. इसी साल विश्व स्वास्थ्य संगठन की टीम चीन में जांच के लिए पहुंची थी लेकिन उस दौरान भी टीम के सदस्यों की गतिविधियों को सीमित रखा गया था. आखिर में टीम ने निष्कर्ष पर पहुंचने के लिए और अधिक जांच की जरूरत बताई थी.

इसी साल, अगस्त में अमेरिकी खुफिया एजेंसियों ने राष्ट्रपति जो बायडन को बताया था कि कोरोना वायरस को बायोलॉजिकल हथियार नहीं था बल्कि संभवतः यह लैब से लीक हुआ या फिर नेचुरल ट्रांसमिशन था. हालांकि, चीन लगातार इस दावे को खारिज करता रहा है कि कोरोना वायरस की उत्पत्ति उसके देश में हुई.

Tags: Bizarre news, Bizarre story, China, Corona, COVID 19, WHO, World news in hindi





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.

fifty four  ⁄    =  nine