Free Video Downloader

India tour of south africa rahul dravid plan to send hanuma vihari with india a team to south africa paid off


नई दिल्ली. भारतीय क्रिकेट टीम को इस महीने 3 टेस्ट की सीरीज के लिए दक्षिण अफ्रीका का दौरा करना है. पहले यह सीरीज 17 दिसंबर से शुरू होनी थी. लेकिन दक्षिण अफ्रीका में कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन (Omicron) के मामले तेजी से बढ़ने के कारण इस 9 दिन के लिए टाल दिया गया. अब टेस्ट सीरीज का पहला मुकाबला 26 दिसंबर से सेंचुरियन में खेला जाएगा. लेकिन इस टेस्ट सीरीज से पहले दिग्गज खिलाड़ियों के हालिया फॉर्म ने भारतीय टीम मैनेजमेंट की परेशानी बढ़ा रखी है. खासकर चेतेश्वर पुजारा (Cheteshwar Pujara) और अजिंक्य रहाणे (Ajinkya Rahane). यह दोनों बीते कई सालों से मिडिल ऑर्डर में भारतीय बल्लेबाजी की अहम कड़ी हैं. लेकिन बीते साल भर से दोनों बल्लेबाज खुद रनों के लिए जूझ रहे हैं. ऐसे में दक्षिण अफ्रीका दौरे पर यह टीम इंडिया की सबसे बड़ी परेशानी बन सकती है. हालांकि, कोच राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) ने इसका हल ढूंढ लिया है.

राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) पहले से ही जानते थे कि दक्षिण अफ्रीका दौरा आसान नहीं रहने वाला है. वहां की उछाल भरी पिचों पर भारतीय बल्लेबाजों को हमेशा से मुश्किल आती रही है. ऊपर से रहाणे, पुजारा और कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) भी पूरी तरह रंग में नहीं हैं. इसे देखते हुए ही उन्होंने हनुमा विहारी (Hanuma Vihari) को न्यूजीलैंड के खिलाफ घरेलू टेस्ट सीरीज में मौका देने के बजाए इंडिया-ए टीम के साथ दक्षिण अफ्रीका दौरे पर भेजने का फैसला किया और उनकी जगह श्रेयस अय्यर को घरेलू टेस्ट सीरीज के लिए मौका दिया.

इसके पीछे उनकी सोच साफ थी वो चाहते थे कि विहारी टेस्ट सीरीज से पहले दक्षिण अफ्रीका की कंडीशंस और पिच के मिजाज से अच्छे से वाकिफ हो जाएं. वहीं, श्रेयस को भी टेस्ट खेलने का मौका मिल जाए और दोनों ही बातें टीम इंडिया के हक में गईं. क्योंकि हनुमा विहारी ने भी दक्षिण अफ्रीका में अच्छी बल्लेबाजी की और श्रेयस ने भी पहली टेस्ट सीरीज में शतक और अर्धशतक जड़कर मिडिल ऑर्डर के लिए एक विकल्प और मुहैया करा दिया. इसी वजह से उन्हें दक्षिण अफ्रीका दौरे के लिए चुना भी गया है.

कोच द्रविड़ के प्लान से टीम इंडिया को हुआ फायदा
द्रविड़ के हेड कोच बनने के बाद से ही प्लानिंग में बदलाव आया है. वो किसी भी अहम सीरीज और टूर्नामेंट से पहले इंडिया-ए टीम को उस देश के दौरे पर भेजने की रणनीति पर काम कर रहे हैं. इंडिया-ए का हालिया दक्षिण अफ्रीका दौरा भी इसी रणनीति का हिस्सा था.

हनुमा विहारी ने इंडिया-ए के लिए 227 रन बनाए
अब दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट सीरीज में चेतेश्वर पुजारा और अजिंक्य रहाणे अगर रन बनाने में नाकाम भी होते हैं तो हनुमा विहारी टीम के संकटमोचक बन सकते हैं. उन्होंने इंडिया-ए टीम के हालिया साउथ अफ्रीका दौरे पर इसे साबित भी किया है. दक्षिण अफ्रीका-ए के खिलाफ अनाधिकारिक टेस्ट सीरीज जरूर ड्रॉ पर खत्म हुई. लेकिन हनुमा बल्ले से चमके. उन्होंने इंडिया-ए के लिए सबसे ज्यादा 227 रन बनाए. हनुमा ने 5 पारियों में 3 अर्धशतक ठोके और दो बार नाबाद रहे.

वनडे-T20 कप्तान रोहित शर्मा को क्या विराट कोहली से ज्यादा सैलरी मिलेगी?

रवि शास्त्री का खुलासा- पूरी कोशिश की गई कि मैं टीम इंडिया का कोच ना बन सकूं

हनुमा का टेस्ट सीरीज में प्लेइंग-11 के लिए दावा मजबूत
हनुमा विहारी का हालिया प्रदर्शन इस बात का सबूत है कि वो दक्षिण अफ्रीका दौरे के लिए पूरी तरह तैयार हैं और कोच द्रविड़ ने जिस रणनीति के तहत उन्हें इंडिया-ए टीम के साथ भेजा था. वो सफल रही. अब टीम मैनेजमेंट को यह तय करना है कि विहारी का टेस्ट सीरीज में कैसे और कहां इस्तेमाल किया जाए.

Tags: Ajinkya Rahane, Cricket news, Hanuma vihari, Ind vs sa, India vs South Africa, Rahul Dravid, Team India Head Coach





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.

thirty two  ⁄  eight  =