EURO 2020 में अब क्रिस्टियन एरिक्सन के लिए खेलेंगे डेनमार्क के खिलाड़ी


कोपेनहेगन. यूरो फुटबॉल चैम्पियनशिप के पहले मैच के दौरान मैदान पर गिरने के बाद अस्पताल से पहली बार अपने साथी खिलाड़ियों से बात करते समय डेनमार्क के क्रिस्टियन एरिक्सन ने उन्हें अगले मैच पर फोकस करने की सलाह दी. उनके साथी खिलाड़ी पियरे एमिली होबर्ग ने कहा, ”उसने हमसे कहा कि गुरुवार को होने वाले अगले मैच पर फोकस करो. आगे बढ़ो. यह बहुत मायने रखता है. इससे मुझे ऊर्जा मिली.” होबर्ग के साथ डेनमार्क के गोलकीपर कास्पर श्मेइकल और फारवर्ड मार्टिन ब्रेथवेट ने एरिक्सन के गिरने के बारे में मीडिया से बात की. एरिक्सन को फिनलैंड के खिलाफ शनिवार के मैच के दौरान मैदान पर दिल का दौरा पड़ा था. वह कोपेनहेगन के एक अस्पताल में हैं और उनकी हालत अब स्थिर है.

ब्रेथवेट ने कहा, ”मुझे इसमें कोई शक नहीं कि गुरूवार के मैच में कुछ खास देखने को मिलेगा. सिर्फ खिलाड़ियों की ओर से ही नहीं बल्कि सभी दर्शकों की ओर से भी. इस प्रेरणा को हम एरिक्सन के लिए खेलने पर इस्तेमाल करेंगे.” एरिक्सन ने रविवार को वीडियो लिंक के जरिए अपने साथी खिलाड़ियों से बात की. मीडिया से बातचीत कर रहे तीनों खिलाड़ियों ने कहा कि वे अब यूरो 2020 में अपने प्रदर्शन पर पूरा फोकस करेंगे. पहले मैच में फिनलैंड से 1-0 से हारे डेनमार्क का सामना अब बेल्जियम से होगा.

होबर्ग ने कहा, ”इससे हमें यह अहसास हुआ कि अब आगे की सोचना ठीक है. हम गुरूवार को क्रिस्टियन के लिए और हमारा साथ देने वाले सभी लोगों के लिए खेलेंगे.” टीम ने सोमवार को अभ्यास भी किया. एरिक्सन के गिरने के बाद मैदान पर उनके इलाज के दौरान चारों तरफ घेरा बनाने के लिए डेनमार्क के खिलाड़ियों की काफी तारीफ हो रही है.

उस पल के बारे में पूछने पर ब्रेथवेट ने कहा, ”मैं बस वही करना चाहता था जिससे उस समय उसकी मदद हो सके.” एरिक्सन के एजेंट मार्टिन शूट्स ने इतालवी मीडिया से कहा कि दुनिया भर से मिल रहे सहयोग और संदेशों से एरिक्सन अभिभूत हैं. उन्होंने भी रविवार को एरिक्सन से बात की. बता दें किअपनी धरती पर अपनी टीम को यूरो चैम्पियनशिप खेलते देखने का सुरूर अभी ठीक से चढ़ा भी नहीं था कि क्रिस्टियन एरिक्सन के पहले ही मैच में मैदान पर गिरने से डेनमार्क के फुटबॉलप्रेमियों के उत्साह पर घड़ों पानी फिर गया. जहां तालियों और टीम के समर्थन में जोशीले नारे सुनाई देने थे, वहां चेहरों पर मायूसी और आंखों में आंसू के सिवा कुछ नजर नहीं आ रहा था.

डेनमार्क की टीम को अपने ग्रुप मैच घरेलू मैदान पर ही खेलने हैं, जिससे यहां जश्न का माहौल बन गया था. लोगों को उम्मीद थी कि डेनमार्क 1992 में मिली जीत को दोहराएगा. पहले मैच के 43वें मिनट में हालांकि सब कुछ बदल गया. फिनलैंड के खिलाफ पहले मैच में दिल का दौरा पड़ने से एरिक्सन मैदान पर गिरे. टीवी पर नजरें गड़ाए बैठे डेनमार्क के करीब 60 लाख लोगों ने देखा कि कैसे देश के सर्वश्रेष्ठ फुटबॉलरों में शुमार एरिक्सन मैदान पर अचेत पड़ा था और उसे सीपीआर दिया जा रहा था. टीम के बाकी खिलाड़ी आंखों में आंसू लिए उसके आसपास गोला बनाए खड़े थे.

डेनमार्क के प्रधानमंत्री मेटे फेडेरिकसन ने इसे ‘राष्ट्रीय त्रासदी’ बताया. एरिक्सन की स्थिति हालांकि अब बेहतर है लेकिन यह राष्ट्रीय चर्चा का मुद्दा बन गया है.कुछ लोग मैच 90 मिनट बाद बहाल किए जाने से खफा हैं तो कुछ को यह समझ नहीं आ रहा कि इतने स्वस्थ खिलाड़ी को दिल का दौरा कैसे पड़ा. बहस का एक और मसला यह भी है कि अपने नायक को मैदान पर अचेत पड़े देखकर युवा दर्शकों पर क्या असर पड़ा होगा. बच्चों के लिए काम करने वाले कई गैर सरकारी संगठनों ने कहा है कि अधिकांश बच्चे सहमे हुए और दुखी हैं और उन पर लंबे समय तक इसका असर रहेगा.

Tags: Christian Eriksen, Denmark, Euro 2020, Euro cup, Euro Cup 2020, Euro Football Championship





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.

forty nine  ⁄    =  seven