IND vs NZ test series virat kohli says South Africa is a tough challenge and a win we want to achieve as a team – IND vs NZ: विराट कोहली ने कहा


मुंबई. विराट कोहली और राहुल द्रविड़ युग की शुरुआत न्यूजीलैंड के खिलाफ घरेलू टेस्ट सीरीज में जीत के साथ हुई. कोहली (Virat Kohli) ने सोमवार को न्यूजीलैंड के खिलाफ बड़ी जीत दर्ज करने के बाद कहा कि टीम नए सहयोगी सदस्य भी उसी सोच और उद्देश्य का अनुसरण कर रहे हैं, जैसा की पिछली व्यवस्था में किया जा रहा था. पूर्व महान खिलाड़ी राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) ने मुख्य कोच के रूप में रवि शास्त्री (Ravi Shastri) की जगह ली है. टीम इंडिया (Team India) ने न्यूजीलैंड को दूसरे टेस्ट मैच के चौथे दिन (India vs New Zealand) 372 रन के बड़े अंतर से हराया.

मैच के बाद विराट कोहली ने कहा, ‘नए मैनेजमेंट के साथ भी हमारी मानसिकता वही है कि भारतीय क्रिकेट को आगे ले जाना है. भारतीय क्रिकेट के मानकों को बनाए रखना और यह सुनिश्चित करना महत्वपूर्ण है कि यह हमेशा बढ़ता रहे.’ कोहली और शास्त्री ने एक सफल कप्तान-कोच संयोजन बनाया था, जिसने विदेशों में कई टेस्ट सीरीज में जीत दर्ज की थी.

पिछली बार 1-2 से हार मिली

विराट कोहली (Virat Kohli) ने कहा कि इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया में मिली सफलता ने टीम के विदेश में खेलने के अनुभव और आत्मविश्वास को बढ़ाया है और भारतीय टीम दक्षिण अफ्रीका के आगामी दौरे (India vs South Africa) पर पहली बार टेस्ट सीरीज जीतने के इरादे से उतरेगी. भारत ने 1992 से अब तक दक्षिण अफ्रीका में तीन टेस्ट जीते हैं, लेकिन टीम अभी तक वहां एक भी सीरीज नहीं जीत पाई है. पिछले दौरे (2017-18) में उन्हें 1-2 से हार का सामना करना पड़ा.

सीरीज में अच्छा प्रदर्शन करने के लिए तैयार

भारतीय कप्तान ने कहा, ‘दक्षिण अफ्रीका में हमें अच्छी चुनौती मिलेगी. हमने पिछली बार वहीं से विदेशी दौरे पर अच्छा प्रदर्शन करना शुरू किया था. इसका नतीजा ऑस्ट्रेलिया में मिला था. अब हमें विश्वास है कि हम कहीं भी जीत सकते हैं.’ कोहली ने कहा, ‘यह एक कठिन चुनौती है, जिसे हम सफलता हासिल करना चाहते हैं, हर कोई प्रेरित है. उम्मीद है कि हम दक्षिण अफ्रीका में उस तरह से खेल सकेंगे, जिसके लिए हमें जाना जाता है. हम सीरीज जीत सकते हैं.’

पहली पारी में 62 रन के कारण पिछड़े

न्यूजीलैंड के कप्तान टॉम लाथम (Tom Latham) ने कहा कि पहली पारी में 62 रन पर आउट होने के बाद उनकी टीम बैकफुट पर आ गई थी. उन्होंने कहा, ‘यह हमारी तरफ से निराशाजनक प्रदर्शन था. शानदार प्रदर्शन करने के लिए भारत को श्रेय दिया जाना चाहिए. जब आप 62 रन पर आउट हो जाते है तो मैच में पिछड़ जाते हैं. आप यहां हमेशा पहले बल्लेबाजी करना चाहते हैं, क्योंकि खेल के आगे बढ़ने के साथ बल्लेबाजी मुश्किल होती जाती है. यह ऐसा नतीजा नहीं था जैसा हमने सोचा था.’

यह भी पढ़ें: IND vs NZ: भारत और न्यूजीलैंड के खिलाड़ियों ने साथ में मिलकर मनाया जश्न, वानखेड़े में दिखा अनोखा नजारा

यह भी पढ़ें: IND vs NZ: एजाज पटेल नहीं पहुंच सके अनिल कुंबले और जिम लेकर के बराबर, ऐसे समझिए पूरी कहानी

उन्होंने कहा, ‘खिलाड़ी अलग-अलग परिस्थितियों में अच्छा प्रदर्शन करने में सक्षम हैं और हमारी टीम में काफी गहराई है. एजाज के लिए यह बहुत ही खास मैच है. खेल के इतिहास में केवल तीसरी बार किसी खिलाड़ी ने पारी में सभी 10 विकेट झटके हैं.’ टेस्ट टीम में वापसी करने वाले जयंत यादव (Jayant Yadav) ने मैच के चौथे दिन चार विकेट झटक कर इसे यादगार बनाया. उन्होंने कहा, ‘सुबह वानखेड़े की पिच में नमी थी और इससे मदद मिली. आप अंतर देख सकते थे और हमें बस सही क्षेत्रों में गेंदबाजी करनी थी.’

Tags: Cricket news, IND vs NZ, India vs new zealand, India vs South Africa, Rahul Dravid, Ravi shastri, Team india, Tom Latham, Virat Kohli





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.

twenty  ⁄    =  4