China angry on us president joe biden statement taiwan defense


बीजिंग. चीन (China) ने शुक्रवार को कहा कि ताइवान (Taiwan) के मुद्दे पर समझौते की “कोई गुंजाइश नहीं है.” इससे पहले अमेरिका के राष्ट्रपति ने जो बायडन (US President Joe Biden) ने कहा था कि अगर ताइवान पर हमला होता है तो अमेरिका उसकी रक्षा करेगा. हालांकि अमेरिका रक्षा कैसे करेगा, इस बारे में उन्होेंने कुछ नहीं कहा. हालांकि बायडेन के बयान के तुरंत बाद व्हाइट हाउस को सफाई देनी पड़ी. व्हाइट हाउस के एक प्रवक्ता ने कहा कि अमेरिका ने अपनी नीति में किसी भी तरह के बदलाव की घोषणा नहीं की है.

बायडन ने क्या कहा था?
सीएनएन के एक कार्यक्रम में बायडन ने ताइवान को लेकर चीन काे भड़काने वाला बयान दिया था. इसके जवाब में चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता वांग वेनबीन ने चीन के पुराने रुख को दोहराते हुए कहा कि ताइवान उनका क्षेत्र है. हाल में चीन ने ताइवान पर अपना नियंत्रण स्थापित करने के उद्देश्य से उस पर बलपूर्वक कब्जा करने की धमकी दी है. इस क्रम में द्वीप के आसपास युद्धक विमान उड़ाने और तट पर उतरने का अभ्यास करने जैसी गतिविधियां कर रहा है.

वांग ने कहा, “जब चीन की संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता तथा अन्य मुख्य हितों की बात होगी, तो समझौता करने या रियायत के लिए कोई जगह नहीं होगी. अपनी राष्ट्रीय संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता की रक्षा के लिए चीनी लोगों की मजबूत क्षमता, दृढ़ विश्वास और प्रतिबद्धता पर किसी को भी संदेह नहीं होना चाहिए.” वांग ने कहा, “ताइवान चीन का अविभाज्य क्षेत्र है. ताइवान का मसला पूरी तरह से चीन का आंतरिक मसला है और इसमें विदेशी दखलअंदाजी स्वीकार नहीं की जाएगी.”

वांग ने कहा कि अमेरिका को ताइवान के मुद्दे पर संभाल कर बोलना चाहिए और ताइवान की स्वतंत्रता के लिए प्रयासरत अलगाववादी ताकतों को कोई गलत संकेत नहीं देना चाहिए. उन्होंने कहा कि इससे अमेरिका और चीन के बीच संबंध खराब हो सकते हैं और ताइवान जलडमरूमध्य में शांति और स्थायित्व की स्थिति बिगड़ सकती है.

Tags: China, China Army, China border crisis, Joe Biden, Taiwan, US President Joe Biden





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.

  ⁄  2  =  four