A new law in china will cut homework tutoring pressure on students


बीजिंग. चीन (China) में एक ऐसा नया शिक्षा कानून (New Education Law) पास हुआ है, जो बच्चों के लिए खुशखबरी की तरह हो सकता है. सरकार (China Govt) चीनी बच्चों के होमवर्क (Homework) और ऑफ-साइट ट्यूशन के डबल प्रेशर को कम करना चाहती है. इसके लिए नए कानून में लोकल अथॉरिटी इस बात की मॉनिटरिंग करेंगी पेंरेंट्स अपने बच्चों पर पढ़ाई का प्रेशर न डालकर उन्हें एक्सरसाइज और आराम करने के लिए समय दें. इसके अलावा चीन सरकार बच्चों के ऑनलाइन गेमिंग के क्रेज को भी कम करना चाहती है. इसके लिए भी कानून पास किए गए हैं.

चीन की सरकार बच्चों और युवाओं के बीच प्रचलित ऑनलाइन गेम्स को लेकर भी गंभीर है. सरकार इस गेम्स को एक लत के रुप में देखती है और इसे अफीम के नशे से कम नहीं समझती है. सरकार ने आध्यात्मिक अफीम के रूप में समझे जाने वाले ऑनलाइन गेम की लत से निपटने के लिए काफी गंभीर दिख रही है बता दें कि यहां बच्चे इंटरनेट सेलेब्रिटी के काफी प्रभावित दिखते हैं. सरकार की इन इंटरनेट हस्तियों की अंध पूजा पर रोक लगाने के लिए भी कड़ा एक्शन लेने जा रही है.

बता दें कि हाल के महीनों में चीन शिक्षा मंत्रालय ने नाबालिगों के लिए गेमिंग घंटे सीमित कर दिए हैं, जिससे उन्हें केवल शुक्रवार, शनिवार और रविवार को एक घंटे के लिए ऑनलाइन खेलने की अनुमति मिलती है. इसने होमवर्क पर भी कटौती की है. सप्ताहांत और छुट्टियों के दौरान प्रमुख विषयों के लिए स्कूल के बाद ट्यूशन पर प्रतिबंध लगा दिया है. इस फैसले से बच्चों पर भारी शैक्षणिक बोझ का दबाव कम हुआ है.

बच्चे अपराध करें तो मां-बाप भी दोषी
चीन की संसद ने कहा है कि अगर बच्चे बुरा व्यवहार कर रहे हैं और अपराधों में संलिप्त हैं तो इसके लिए उनके मां-बाप जिम्मेदार हैं. चीन की संसद ने कहा है कि वह माता-पिता को भी दंडित करने के कानून पर विचार करेगी, अगर उनके छोटे बच्चे अपराध या बुरा व्यवहार कर रहे हैं.

Tags: Boycott china, China, China government, China news, China Population, Education





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.

twenty one  ⁄    =  three