Free Video Downloader

कोच ने कहा था तुम टीम में रहने लायक नहीं, आज सिर्फ रोनाल्डो-मेसी से पीछे-sunil chhetri birthday 5 facts of indian football captain career – News18 हिंदी


नई दिल्ली. भारतीय फुटबॉल टीम के कप्तान सुनील छेत्री (Sunil Chhetri Birthday) का आज जन्मदिन है. 3 अगस्त, 1984 को तेलंगाना में जन्मे सुनील छेत्री आज 37 साल के हो गए हैं. सुनील छेत्री ने अपने करियर में कई मुकाम हासिल किये हैं. वो भारत के लिए सबसे ज्यादा गोल करने वाले खिलाड़ी हैं. 2007 में पाकिस्तान के खिलाफ अपने इंटरनेशनल करियर (Sunil Chhetri Career) का आगाज करने वाले सुनील छेत्री को अपने करियर में कई उतार-चढ़ाव देखने को मिले. आज भले ही छेत्री भारतीय फुटबॉल के स्टार हैं लेकिन एक वक्त ऐसा भी था जब उन्हें टीम के कोच ने नाकाम खिलाड़ी तक कह दिया था. आइए आपको बताते हैं फुटबॉल टीम के कप्तान के बारे में पांच बड़ी बातें.

सुनील छेत्री अपने इंटरनेशनल करियर में 118 मैचों में 74 गोल दाग चुके हैं. उनका प्रति मैच गोल औसत 0.63 है जो कि रोनाल्डो और मेसी से भी अच्छा है. रोनाल्डो का प्रति मैच गोल औसत 0.61 है, जबकि मेसी अर्जेंटीना के लिए प्रति मैच 0.5 गोल करते हैं. वैसे मौजूदा खिलाड़ियों में सबसे ज्यादा इंटरनेशनल गोल के मामले में रोनाल्डो 109 गोल के साथ पहले नंबर पर हैं. यूएई के अली मबखाउत और लियोनेल मेसी 76 गोलों के साथ दूसरे और सुनील छेत्री तीसरे नंबर पर हैं.

सुनील छेत्री को ये खेल विरासत में ही मिला है. उनकी मां सुशीला छेत्री और उनकी दो जुड़वा बहनें इंटरनेशनल फुटबॉलर रह चुकी हैं. सुनील छेत्री की मां और उनकी बहनें नेपाल नेशनल फुटबॉल टीम की सदस्य रह चुकी हैं.

सुनील छेत्री जब साल 2012 में पुर्तगाल के क्लब स्पोर्टिंग लिस्बन से जुड़े थे तो उस टीम के हेड कोच ने उनकी बेइज्जती की थी. सुनील छेत्री ने एक इंटरव्यू में बताया कि कोच ने उनकी काबिलियत पर सवाल उठाते हुए उन्हें ए टीम से बी टीम में भेजने की बात कही थी. सुनील छेत्री 9 महीने तक क्लब के साथ जुड़े रहे जिसमें उन्हें महज 5 मैच खेलने का मौका मिला. छेत्री अमेरिका के कन्सास सिटी विजार्ड्स से भी 2010 में जुड़े थे हालांकि एक साल के अंदर ही वो भारत लौट आए थे.

सुनील छेत्री भारत के लिए 50 गोल दागने वाले पहले खिलाड़ी बने और वो 6 बार ऑल इंडिया फुटबॉल फेडरेशन के प्लेयर ऑफ द ईयर अवॉर्ड जीत चुके हैं. सुनील छेत्री ने साल 2007 में सबसे पहले इस सम्मान को हासिल किया. इसके बाद 2011, 2013, 2014, 2017 और 2018-19 में वो एक बार फिल प्लेयर ऑफ द ईयर बने.

सुनील छेत्री के पिता आर्मी में थे इसलिए वो देश के कई हिस्सों में रहे. सुनील छेत्री ने गंगटोक में स्कूली पढ़ाई की. इसके बाद वो दिल्ली के आर्मी पब्लिक स्कूल में पढ़े. वो कोलकाता में भी पढ़े और 12वीं क्लास के बाद उन्होंने पढ़ाई छोड़ दी क्योंकि इसके बाद उनका फुटबॉल करियर चमक चुका था.

Tags: Football news, Sports news, Sunil chhetri, Sunil Chhetri Birthday, Sunil Chhetri Records





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

  ⁄  two  =  one