Ritu Phogat will compete with Stamp Fairtex in MMA Finals may become first woman champion


नई दिल्ली. भारत की पूर्व पहलवान रितु फोगाट (Ritu Phogat) आज शुक्रवार को इतिहास रचने के लिए रिंग में उतरेंगी. रितु फोगाट (Ritu Phogat) ‘वन विमेंस एटम वेट (48 किग्रा वर्ग) वर्ल्ड ग्रांप्री चैंपियनशिप (मिक्स्ड मार्शल आर्ट) फाइनल’ में थाईलैंड की स्टैम्प फेयरटेक्स से भिड़ेंगी. स्टैम्प फेयरटेक्स (Stamp Fairtex) किक-बॉक्सिंग और ‘मॉय थाई’ की पूर्व विश्व चैंपियन भी हैं. ‘मॉय थाई’ भी मार्शल आर्ट का एक रूप है जिसकी उत्पत्ति थाईलैंड में हुई थी. इसे ‘आठ अंगों की कला’ कहा जाता है. रितु को एमएमए वर्ल्ड में द इंडियन टाइग्रेस (The Indian Tigress) कहा जाता है.

विश्व रैंकिंग में चौथे स्थान पर काबिज रितु फोगाट (Ritu Phogat) ने कहा कि वह सिंगापुर इंडोर स्टेडियम में 48 किग्रा वर्ग के अपने आगामी मुकाबले की तैयारी में कोई कसर नहीं छोड़ रही हैं. रितु ने कहा, ‘भारत से अब तक कोई महिला एमएमए चैंपियन (MMA Champion) नहीं बनी है. अब मेरे पास इस स्थिति को बदलने और वैश्विक मंच पर भारतीय महिला को पहचान दिलाने का मौका है. मैं भारत को गौरवान्वित करने की पूरी कोशिश करूंगी.’

उन्होंने कहा, ‘मैं बहुत लंबे समय से फाइनल के लिए तैयारी कर रही हूं और मैंने पिछले दो वर्षों से अनगिनत घंटों तक प्रशिक्षण लिया है.’ उनके प्रतिद्वंद्वी, फेयरटेक्स को इस भार वर्ग में सबसे खतरनाक खिलाड़ियों में से एक माना जाता है. रितु फोगाट 2 साल से घर से बाहर हैं.

यह भी पढ़ें: क्रिस्टियानो रोनाल्डो 800 गोल करने वाले पहले खिलाड़ी बने, जानिए किस टीम के लिए सबसे ज्यादा गोल दागे

भारत की 27 साल की खिलाड़ी ने कहा कि कुश्ती के अनुभव के कारण वह थाईलैंड की प्रतिद्वंद्वी के खिलाफ फायदे में रहेंगी. उन्होंने कहा, ‘फेयरटेक्स निश्चित रूप से एक मजबूत प्रतिद्वंद्वी है लेकिन उसके पास उस तरह का कुश्ती का अनुभव और पृष्ठभूमि नहीं है जो मैंने पिछले सात वर्षों में हासिल किया है. मुझे यकीन है कि मेरी बेहतर कुश्ती की पृष्ठभूमि से मुझे फायदा होगा.’

Tags: Mixed martial arts, Mma, Ritu Phogat, Sports news





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.

  ⁄  5  =  one