Mma finals ritu phogat becomes first indian women to win mma title stamp fairtex


नई दिल्ली. रितु फोगाट (Ritu Phogat) भारतीय खेल के इतिहास में नया मुकाम हासिल करने से एक कदम दूर रह गईं. वे एमएमए (MMA) का टाइटल जीतने वाली भारत की पहली महिला बनने से चूक गईं. रितु को वन विमेंस वर्ल्ड ग्रांप्री चैंपियनशिप के फाइनल में थाईलैंड की स्टैम्प फेयरटेक्स ने हराया. स्टैम्प फेयरटेक्स (Stamp Fairtex) किक-बॉक्सिंग और ‘मॉय थाई’ की पूर्व विश्व चैंपियन हैं. रितु को एमएमए वर्ल्ड में द इंडियन टाइग्रेस (The Indian Tigress) कहा जाता है.

27 साल की खिलाड़ी रितु फोगाट ने फाइनल से पहले ने कहा था कि कि कुश्ती के अनुभव के कारण वह थाईलैंड की प्रतिद्वंद्वी के खिलाफ फायदे में रहेंगी. लेकिन वे एक नजदीकी मुकाबले में हार गईं. वे मशहूर पहलवान गीता और बबीता फोगाट की बहन हैं. वे पिछले 2 साल से यहां तक पहुंचने के लिए मेहनत कर रही थी. उनकी वर्ल्ड रैंकिंग 4 है.

कॉमनवेल्थ चैंपियनशिप में जीत चुकी हैं गोल्ड

एमएमए में उतरने से पहले रितु फोगाट ने कॉमनवेल्थ रेसलिंग चैंपियनशिप में अच्छा प्रदर्शन किया था. उन्होंने 2016 में सिंगापुर में हुए चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल जीता था. इसके अलावा उन्होंने 2017 में नई दिल्ली में हुए एशियन चैंपियनशिप में ब्रॉन्ज मेडल पर कब्जा किया. वहीं इस महिला पहलवान ने 2017 में अंडर-23 वर्ल्ड चैंपियनशिप में सिल्वर मेडल जीता था.

यह भी पढ़ें: रितु फोगाट 2 साल से घर नहीं गईं, कहा- MMA चैंपियन बनकर ही लौटना चाहती हूं

9 में से सिर्फ 2 फाइट हारीं

फरवरी 2019 में उन्होंने एमएमए (MMA) में उतरने का फैसला किया था. नवंबर 2019 में पहला मुकाबला खेला था और नॉकआउट से जीत हासिल की थी. फाइनल मुकाबला उनकी ओवरऑल 9वां फाइट थी. वे अब तक 7 में जीत हासिल कर चुकी हैं, जबकि दो में उन्हें हार मिली है. रेसलिंग फैमिली ने आने वाली रितु नए खेल में खुद को साबित करने में जुटी हुई हैं. हार के बाद भी उन्होंने अपने प्रदर्शन ने सबको प्रभावित किया.

Tags: India, Mixed martial arts, Mma, Ritu Phogat, Sports news





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.

  ⁄  two  =  one