Free Video Downloader

Chinese miao tribe werid tradition men get haircut from sickle carry rifles ashas


दुनिया में ऐसे कई आदिवासी समुदाय (tribal community) हैं जिनकी परंपराएं (Famous traditions of tribals around the world) विश्व प्रसिद्ध हैं. लोग इनके बारे में जानकर दंग हो जाते हैं मगर ये आदिवासी जनजातियां आज भी अपनी मान्यताओं और परंपराओं को कायम रखे हुए हैं. आज हम आपको चीन की एक जनजाति के बारे में बताने जा रहे हैं जो अपनी बरसों पुरानी परंपराओं का पालन करती है. इस समुदाय में मर्दों को बंदूक (Men allow to carry rifle) रखने की छूट है और उनके बाल हंसिया (Haircut with Sickle) से काटे जाते हैं!

chinese tribe that cut men hair with sickle 1

यहां बाल काटना बहादुरी की निशानी माना जाता है. (फोटो: Twitter/@tourbeijingcom)

बेशक ये हैरान करने वाली परंपरा है जो गुइजो प्रांत के कुछ लोगों के जीवन का हिस्सा है. हम बात कर रहे हैं मियाओ (Miao Tribe) अल्पसंख्यक जनजाति की जो बाशा गांव (Basha Village) के निवासी हैं. ये गांव चीन के अन्य गांवों से काफी अलग है. वो इसलिए कि ये चीन की एक मात्र ऐसी जगह हैं जहां के निवासियों को बंदूक रखने की इजाजत है. एक बार चीन की सरकार ने यहां के लोगों की बंदूकों को जब्त करने का निर्णय लिया था मगर गांव के लोगों से उन्हें भारी विरोध का सामना करना पड़ा. जिसके बाद सरकार ने यहां को लोगों को इजाजत दी कि वो बंदूक रख सकते हैं. गांव में 400 से ज्यादा परिवार हैं और रिपोर्ट्स के मुताबिक यहां की कुल आबादी 1 हजार से ज्यादा है. गांव के लोग आत्मनिर्भर हैं इसलिए इन्होंने खुद को बाहरी दुनिया से काट लिया है.

बंदूकों का प्रदर्शन करने का है रिवाज
इस गांव के लोगों में बंदूकों का प्रदर्शन करने का रिवाज है. जो कोई भी इस गांव में जाता है उनका स्वागत यहां के मर्द बंदूक चलाकर करते हैं. हालांकि उनका मकसद हिंसा फैलाने या डर पैदा करने का नहीं होता है. इस गांव के पूर्वज वीर सैनिक थे जो गांव की रक्षा घुसपैठियों और जंगली जानवरों से करते थे. इसलिए वो अपने साथ बंदूक रखा करते थे. यही वजह है कि आज भी यहां के लोग राइफल लिए रहते हैं. 15 साल की उम्र में हर मर्द को बंदूक दे दी जाती है.

chinese tribe that cut men hair with sickle 2

15 साल की उम्र में मर्दों को मिल जाती है बंदूक. (फोटो: Twitter/@ExploreWW)

हंसिया से काटे जाते हैं मर्दों के बाल
मियाओ लोगों से जुड़ी सबसे ज्यादा हैरान करने वाली बात ये है कि यहां के मर्दों के बाल हंसिया से काटे जाते हैं. ना ही कैंची का इस्तेमाल होता है और ना ही पानी या किसी अन्य चीज का उपयोग किया जाता है. 7 से 15 साल की उम्र के बीच युवक को दो विकल्प दिए जाते हैं. या तो वो अपने बाल कटवा ले और सर के बीच में एक लंबी चोटी छोड़े जिसे जूड़े की तरह बांधा जाता है, या फिर वो बाल ना कटवाए और जूड़ा बांध ले. हालांकि अधिकतर मर्द हंसिया से बाल कटवा लेते हैं. उनकी चोटी उनकी बहादुरी और पौरुष का प्रतीक होता है.

Tags: Ajab Gajab news, OMG News





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.

  ⁄  one  =  nine