China Where people are disappearing for not obeying the government shocking revelations came to the fore


बीजिंग. चीन में कम्युनिस्ट पार्टी (Chinese Communist Party) के एक पूर्व शीर्ष पदाधिकारी के खिलाफ यौन उत्पीड़न के आरोप लगाने वाली टेनिस खिलाड़ी पेंग शुआई (peng shuai) का गायब होना मीडिया सहित दुनिया भर में सुर्खियों में बना हुआ है. चीन (china) में पहले भी ऐसे मामले सामने आ चुके हैं. यहां किसी मामले के चर्चा में आने के बाद लोग हमेशा के लिए लापता हो जाते हैं और उनकी कभी कोई खबर नहीं आती. इस बार चीन की नामचीन खिलाड़ी पेंग के लापता होने से लोगों में नाराजगी देखी जा रही है. स्‍थानीय लोगों ने बताया है कि अनेक ऐसे मामले हैं जहां राजनीतिक असंतुष्टों, मनोरंजन जगत के लोगों, कारोबारियों और अन्य ऐसे लोग शामिल हैं जिन्होंने अधिकारियों की बात नहीं मानीं, वे हमेशा के लिए गायब हो गए.

टेनिस जगत और वैश्विक मीडिया में आक्रोश के बाद चीनी अधिकारियों ने करीब दो सप्ताह पहले ग्रेंड स्लैम डबल्स की चैंपियन पेंग के ऑनलाइन आरोपों पर सीधे तौर पर कोई ध्यान नहीं दिया. पेंग ने कहा कि पार्टी की सबसे शक्तिशाली पोलितब्यूरो स्टैंडिंग कमेटी के पूर्व उपाध्यक्ष और सदस्य झांग गाओली ने उनका यौन उत्पीड़न किया. पूर्व उप प्रधानमंत्री झांग गाओली (Zhang Gaoli)  जो अब 75 साल के हैं.   2013 में विंबलडन में महिला डबल्स में और 2014 में फ्रेंच ओपन में जीतने वाली दुनिया की पूर्व नंबर एक खिलाड़ी पेंग (35) तीन बार ओलंपिक में भी भाग ले चुकी है. बीजिंग में चार फरवरी से विंटर गेम की शुरुआत होनी है और इस लिहाज से पेंग का लापता होना और चर्चा में है.

ये भी पढ़ेें :  चीन पर सख्त हुआ भारत, जयशंकर बोले- खराब दौर से गुजर रहे दोनों देशों के रिश्ते

सनसनीखेज खुलासे के स्‍क्रीनशॉट्स हुए वायरल 

पेंग ने दो नवंबर को एक लंबे-चौड़े सोशल मीडिया पोस्ट में लिखा था कि झांग ने तीन साल पहले जबरन उनके साथ शारीरिक संबंध बनाने की कोशिश की जबकि वह बार-बार मना करती रहीं. यह पोस्ट सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म वीबो पर उनके सत्यापित अकाउंट से जल्द ही हटा दी गई. हालांकि इस सनसनीखेज खुलासे के स्क्रीनशॉट चीन में इंटरनेट पर फैल गए. चीन कहने को तो ‘कानून से चलने वाला’ राष्ट्र है लेकिन अंतत: देश पर पकड़ कम्युनिस्ट पार्टी की है और प्रवर्तन के कई अंधेरे क्षेत्र हैं. प्रेस और सोशल मीडिया पर नियंत्रण होने से लोगों के गायब होने की खबरें बंद दरवाजों में रखना अधिकारियों के लिए संभव हो पाता है. पेंग से पहले भी कई जानेमाने लोग अचानक ही लापता हो गए जिनमें कारोबारी क्षेत्र के अग्रणी जैक मा और लोकप्रिय अभिनेत्री फान बिंगबिंग शामिल हैं.

ये भी पढ़ें :  वो 10 तस्वीरें जिन्हें दुनिया से छिपाना चाहता था चीन, गलती से सामने आ गई असलियत

अलीबाबा समूह के संस्थापक जैक मा भी ‘लापता’ 

दुनिया की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स कंपनी अलीबाबा समूह के संस्थापक जैक मा ने अक्टूबर 2020 में एक भाषण में नियामकों को बहुत अधिक रूढ़िवादी बताया था और उसके बाद से वह सार्वजनिक रूप से नजर नहीं आए. दो महीने बाद जनवरी 2020 में वह अलीबाबा की ओर से जारी वीडियो में नजर आए लेकिन अपने लापता होने के बारे में उन्होंने इसमें कुछ नहीं बताया. फान भी तीन महीने के लिए लापता हुई थीं जिसके बाद खबर आई कि कर अधिकारियों ने उन्हें और उनकीं कंपनियों को 13 करोड़ डॉलर के कर और जुर्माना अदा करने को कहा.

जिसने की राष्‍ट्रपति की आलोचना उसे 18 साल की जेल 

इसी तरह कारोबारी महिला डुआन वेईहांग भी 2017 में लापता हो गई थीं. उनके पति ने बताया कि चार वर्ष बाद जब वह चीन के समृद्ध वर्गों में भ्रष्टाचार का खुलासा करने वाली किताब प्रकाशित करने की तैयारी कर थे तब उनकी पत्नी का फोन आया जिसमें उसने कहा कि वह किताब प्रकाशित नहीं करवाएं. कोरोना वायरस से निबटने को लेकर राष्ट्रपति शी जिनपिंग की आलोचना करने के बाद रियल एस्टेट कारोबारी रेन झिक्यिआंग मार्च 2020 में गायब हो गए थे. बाद में उसी साल उन्हें भ्रष्टाचार के आरोप में 18 वर्ष की जेल की सजा दी गई.

Tags: China, Chinese Communist Party, Peng shuai





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.

  ⁄  three  =  three