Free Video Downloader

Australia former pm says did contract of submarines for save united states from china


कैनबरा. ऑस्ट्रेलिया (Australia) के पूर्व प्रधानमंत्री पॉल कीटिंग (Paul Keating) ने बुधवार को दावा किया कि अमेरिकी परमाणु प्रौद्योगिकी से संचालित पनडुब्बियों के अधिग्रहण के लिए किये गए सौदे का उद्देश्य अमेरिका (United States) को चीनी परमाणु हमले (China) से बचाने से लक्षित है और इस करार ने ऑस्ट्रेलिया-चीन संबंधों को बदल दिया है.

कीटिंग ने नेशनल प्रेस क्लब को बताया कि ऑस्ट्रेलिया की वर्तमान कंजरवेटिव सरकार ने 12 डीजल-इलेक्ट्रिक पनडुब्बियों का ऑस्ट्रेलियाई बेड़ा तैयार करने के लिए फ्रांस के साथ 90 बिलियन ऑस्ट्रेलियाई डॉलर का अनुबंध रद्द करके ‘भयावह’ व्यवहार किया. इसके बजाय, अब ऑस्ट्रेलिया अमेरिका और ब्रिटेन के साथ एक नए करार के तहत अमेरिकी प्रौद्योगिकी के उपयोग वाली आठ परमाणु-संचालित पनडुब्बियों का अधिग्रहण करेगा.

उल्लेखनीय है कि कीटिंग ने 1991 से 1996 तक मध्यमार्गी-वामपंथी लेबर पार्टी सरकार का नेतृत्व किया था. उन्होंने कहा, ‘चीन के खिलाफ आठ पनडुब्बियां, वो भी 20 साल में हमें मिलेंगी. यह ऊंट के मुंह में जीरे जैसा होगा.’ कीटिंग ने कहा कि ऑस्ट्रेलिया की परमाणु चालित पनडुब्बियों को परमाणु हथियारों से लैस चीनी पनडुब्बियों को चीन के तट के करीब ही कम गहरे समुद्र में रोकने के लिए डिज़ाइन किया जाएगा.

यह भी पढ़ें: Tamil Nadu Rains: तमिलनाडु में बारिश का कहर, अब तक 12 लोगों की मौत, सड़कों पर भरा पानी

कीटिंग ने कहा, ‘दूसरे शब्दों में, संयुक्त राज्य अमेरिका के खिलाफ दूसरे परमाणु हमले की क्षमता रखने से चीन को रोकने के लिए.’ उन्होंने कहा कि इससे चीन से हमारे संबंध बदल गए हैं.

Tags: Australia, China, United States





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

  ⁄  one  =  two